मोटर वाहन अधिनियम में आज से लागू नए बदलाव, रद्द हो सकता है ड्राइविंग लाइसेंस

Smart News Team, Last updated: 01/10/2020 12:28 PM IST
  • 1 अक्टूबर से मोटर वाहन अधिनियम 1988 में बदलाव होने जा रहा है. जिसमें ट्रैफिक पुलिस ड्राइवर के दुर्व्यवहार के कारण उनके लाइसेंस के साथ गाड़ी के पंजीकरण को भी रद्द कर सकती है. नए मोटर वाहन नियम में सवारी के साथ दुर्व्यवहार करने वाले ड्राइवर पर भी सख्त कार्रवाई होगी. 
मोटर वाहन अधिनियम में आज से लागू नए बदलाव, रद्द हो सकता है ड्राइविंग लाइसेंस

लखनऊ. सूचना प्रौद्योगिकी यानी इंफोर्मेशन टैक्नॉलिजी की मदद से निजी और व्यवसायिक ड्राइवरों पर ऑनलाइन निगरानी रखने की व्यवस्था 1 अक्टूबर से लागू हो जाएगी. 1988 के मोटर वाहन अधिनियम में कुछ बदलाव होने जा रहे हैं जिसमें ट्रैफिक पुलिस ऑफिसर से दुर्व्यवहार, वाहन नहीं रोकना, ट्रक केबिन में सवारी बैठाने आदि कारणों से भारी जुर्माना और ड्राइविंग लाइसेंस रद्द किया जा सकता है.

सरकार ट्रैफिक के नियमों का उल्लंघन करने वालों का रिकॉर्ड पोर्टल पर रखेगी. किसी ड्राइवर के दुर्व्यवहार का मामला सामने आता है तो उसपर भविष्य में पोर्टल के जरिए निगरानी रखी जाएगी. पहली अक्टूबर से डीएल और वाहनों के दस्तावेज पोर्टल पर रखने की सुविधा शुरू हो रही है. इससे पुलिस-परिवहन अधिकारी असली दस्तावेजों की मांग नहीं कर सकेंगे. 

STF ने IPL में सट्टा लगाने वाले गिरोह को किया अरेस्ट, मोबाइल, ATM और पैसा बरामद

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने नए नियमों से जुड़ी सभी जानकारी पहले ही जारी कर दी थी. मोटर वाहन अधिनियम 1988 की धारा 19 और 21 में बस, टैक्सी में ज्यादा सवारी बैठाना, सवारी के साथ दुर्व्यवहार, स्टॉप पर नहीं उतारना बस चलाते हुए धूम्रपान करना, शराब पीकर गाड़ी चलाना, बेवजह वाहन धीरे चलाना, अधिक समय लेकर गंतव्य तक पहुंचना आदि अब ड्राइवर को महंगी पड़ सकती हैं. 

कार में घूमकर लगवाते थे IPL में सट्टा, लखनऊ पुलिस ने दो बुकी अरेस्ट किए

मोटर वाहन अधिनियम में नए बदलाव में यातायात पुलिस ऐसे ड्राइवरों पर जुर्माना लगाने के साथ डीएल भी रद्द कर सकती है. इसकी के साथ इनके वाहनों का पंजीकरण भी रद्द करने का प्रावधान होगा. इस अधिनियम में टैक्सी ड्राइवर जो बुकिंग लेने के बाद मना कर देते हैं उन्हें भी शामिल किया गया है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें