बंगला बचाने पत्नी और बेटियों के साथ LDA दफ्तर पहुंचे सांसद अफजाल अंसारी

Smart News Team, Last updated: 21/09/2020 04:19 PM IST
अपने बंगले को बचाने के लिए सांसद अफजाल अंसारी अपने परिवार सहित फिर से एलडीए पहुंचे हैं. वहां उन्होंने प्राधिकरण उपाध्यक्ष के सामने अपना पक्ष रखा. एलडीए से बाहर निकल कर उन्होंने उसकी कार्रवाई को एकतरफा बताया.
मीडिया से बात करते सांसद अफजाल अंसारी.

लखनऊ. सोमवार को सांसद अफजाल अंसारी अपनी पत्नी पर हक अंसारी और दोनों बेटियों के साथ एलडीए पहुंचे. इसके बाद उन्होंने प्राधिकरण उपाध्यक्ष शिवाकांत द्विवेदी के सामने अपना पक्ष रखा. सुनवाई के बाद बाहर आए अफजाल अंसारी ने एलईडी की कार्रवाई को एक तरफा बताया. उन्होंने कहा कि सुनवाई के दौरान विभिन्न सरकारी विभागों की तरफ से नक्शा पास कराने के लिए एनओसी की फोटो कॉपी आईडी अफसरों की को दी थी. जब पहले उनका नक्शा पास किया गया था तो वह खसरा संख्या 93 से बाहर था. लेकिन अब उसे अचानक से 93 में दिखाया जा रहा है.

आपको बता दें कि अफजाल अंसारी और फरहत अंसारी का घर जियामऊ के गाटा संख्या 93 में बना हुआ है. इसी कांटे में मुख्तार अंसारी के दोनों बेटों अब्बास अंसारी और उमर अंसारी का घर भी है. इसे एलडीए ने गिरा दिया था.

लखनऊ: प्रदेश व्यापारियों के साथ CM योगी की बैठक, की उद्योग बढ़ाने पर चर्चा

गौरतलब है कि जिलाधिकारी ने गाटा संख्या 93 की जमीन को निशिकांत घोषित कर दिया है. अफजाल अंसारी की पत्नी फरहत अंसारी के मकान का नक्शा एलडीए ने साल 2007 में पास किया था. इसे फरहत अंसारी ने अपनी जमीन बताया था.

अपनी बेटी के साथ जाती फरहत अंसारी

लखनऊ: कम बजट में शानदार घर खरीदना है तो M.I. सेंट्रल पार्क है बेहतरीन विकल्प

सोमवार को जब अफजाल अंसारी सुनवाई के बाद एलडीए से बाहर निकले तो उन्होंने मीडिया से बात करने से भी मना कर दिया. लेकिन बाद में उन्होंने कहा कि एलडीए उनके खिलाफ एकतरफा कार्रवाई कर रहा है. उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है. एलडीए की यह सुनवाई करीब डेढ़ घंटे चली.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें