लखनऊ: जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष, अधेड़ की हत्या, 2 घायल

Smart News Team, Last updated: Wed, 30th Sep 2020, 9:03 PM IST
  • लखनऊ के जमालपुर गांव में जमीनी विवाद में एक अधेड़ उम्र के शख्स की हत्या कर दी गई. पुलिस ने हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.
लखनऊ के जमालपुर गांव में जमीनी विवाद में अधेर उम्र के शख्स की हत्या कर दी गई.

लखनऊ. काकोरी के जमालपुर गांव में उस समय हंगामा मच गया जब जमीन के विवाद में अधेड़ उम्र के शख्स की मौत हो गई. बुधवार को काकोरी में जमीन के विवाद में हुई लड़ाई में सूबेदार अली की हत्या कर दी गई. लड़ाई में दो लोग गंभीर रूप से घायल हुए. जिन्हें आनन-फानन में ट्रॉमा सेंटर में भर्ती करा दिया गया. पुलिस ने हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

एसीपी काकोरी सै. कासिम आब्दी ने बताया कि तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. उनके पास से हत्या में इस्तेमाल हुई रॉड भी मिली है. ये मामला भटऊ जमालपुर का है. मृतक के बेटे  अरमान ने बताया कि घर के सामने ग्राम समाज की जमीन है. इस खाली जमीन पर जानवरों के लिए नांद बनी हुई है जो क्षतिग्रस्त हो गई थी. बुधवार सुबह अरमान के चचेरे भाई अंसार अली और शराफत नांद की मरम्मत करा रहे थे. 

हाथरस गैंगरेप पीड़ित पिता से CM योगी ने की बात, 25 लाख मुआवजा, नौकरी, घर का ऐलान

इसका विरोध गांव के राम प्रसाद रैदास, रामदास और रामजी रैदास ने किया. जिसके बाद जमीन को लेकर दोनों पक्षों में मारपीट शुरू हो गई. जब 50 वर्षीय सूबेदार अली ने भतीजों पर हमला होते हुए देखा तो उनको बचाने के लिए दौड़ पड़े. लड़ाई में बीच-बचाव कर रहे सूबेदार अली पर राम प्रसाद ने रॉड से उन पर हमला कर दिया. जिससे उनका सिर फट गया और वो लहूलुहान होकर गिर पड़े. इसके अलावा अंसारी अली और आरिफ भी रॉड के वार से घायल हो गए. जिसके बाद उनको अस्पताल ले जाया गया. जहां सूबेदार अली की मौत हो गई.

हाथरस गैंगरेप मामले में जानें कब क्या हुआ, पुलिस ने आधी रात क्यों किया संस्कार

सूबेदार के बेटे अरमान ने राम प्रसाद रैदास, रामदास और रामजी दास के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया. आपको बता दें कि ग्राम समाज की जमीन को लेकर दोनों पक्षों के बीच तीन साल से विवाद चल रहा है. पहले भी मारपीट का घटना सामने आई थी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें