यूपी: कस्टडी में अल्ताफ की मौत पर विवाद, पुलिस ने बताई फांसी, पिता बोले- मर्डर

SHOAIB RANA, Last updated: Wed, 10th Nov 2021, 12:22 PM IST
  • यूपी के कासंगज में एक अल्ताफ नाम के शख्स की पुलिस कस्टडी में मौत होने के बाद विवाद हो गया. पुलिस का कहना है कि अल्ताफ ने थाने के वॉशरूम में जाकर फांसी लगाई है जबकि अल्ताफ के पिता का कहना है कि उसकी पुलिसवालों ने हत्या की है.
अब कासगंज पुलिस पर हत्या का आरोप!

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में पुलिस का विवादों के साथ रिश्ता खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. अभी गोरखपुर मौत मामला शांत भी नहीं हुआ था कि अब यूपी की कासगंज पुलिस की कस्टडी में एक मुस्लिम शख्स की मौत हो जाने पर विवाद हो गया है. हालांकि, पुलिस का दावा है कि अल्ताफ नाम के शख्स ने थाने के बाथरूम में जाकर फांसी लगा ली. जबकि उसके पिता ने पुलिस पर 22 साल के बेटे अल्ताफ की हत्या करने का आरोप लगाया है. मृतक अल्ताफ पर एक महिला के अपहरण का आरोप था जिसको लेकर पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था.

अल्ताफ के पिता चाहत मियां ने आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस उनके बेटे को सोमवार रात आठ बजे घर से ले गई थी. कुछ देर बाद वे थाने पहुंचे तो पुलिसकर्मियों ने उनके साथ खराब व्यवहार किया और थाने में ना आने की धमकी दी.

RSS कार्यकर्ता ने दूसरे समुदाय पर लगाया धर्मांतरण का आरोप, हत्या की भी जताई आशंका

अल्ताफ के पिता चाहत मियां ने आगे कहा कि मंगलवार को उन्हें लोकल रिपोर्टरों से पता चला कि पुलिस थाने में उनके बेटे की मौत हो गई है. पिता ने बताया कि अल्ताफ को अस्पताल भी ले जाया गया था जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. चाहत मियां ने आगे कहा कि उनके बेटे का कोई अपराधिक इतिहास नहीं है, वो बेगुनाह है.

कासगंज पुलिस कप्तान ने इस मामले में दावा किया है कि अल्ताफ को सोमवार शाम को नहीं, मंगलवार सुबह पुलिस थाने लाया गया था. एसएसपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान अल्ताफ ने वॉशरूम जाने की परमिशन मांगी. उसे लॉकअप के वॉशरूम में भेजा गया जहां उसने टोंटी से अपनी जैकेड हुड को बांधकर फांसी लगा ली.

परिवार के 15 सदस्यों ने 18 साल बाद हिंदू धर्म में की वापसी, रहिसू बना यशपाल और..

पुलिस अधिकारियों का दावा है कि पुलिसकर्मियों को अल्ताफ बेहोशी की हालत में मिला जिसे आनन-फानन अस्पताल ले जाया गया. पांच से 10 मिनट के बाद अल्ताफ ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. अल्ताफ के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है. इसके साथ ही उस समय थाने में तैनात पांच पुलिसकर्मियों को सस्पेंड भी कर दिया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें