15 लाख बिजलीकर्मी और इंजीनियर 10 अगस्त को हड़ताल पर, ये है वजह

Smart News Team, Last updated: Mon, 9th Aug 2021, 9:37 AM IST
एनसीसीओईई के आह्वान पर देशभर के लगभग 15 लाख बिजली कर्मचारी व अभियंता इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2021 के विरोध में 10 अगस्त को एक दिवसीय राष्ट्रव्यापी हड़ताल करेंगे.
इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2021 के विरोध में 10 अगस्त को एक दिवसीय राष्ट्रव्यापी हड़ताल करेंगे.

लखनऊ. नेशनल को-ऑर्डिनेशन कमेटी ऑफ इलेक्ट्रिसिटी इम्प्लाइज एंड इंजीनियर्स यानि एनसीसीओईई के आह्वान पर देशभर के लगभग 15 लाख बिजली कर्मचारी व अभियंता इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2021 के विरोध में 10 अगस्त को एक दिवसीय राष्ट्रव्यापी हड़ताल करेंगे. ऑल इंडिया पावर इंजीनियर्स फेडरेशन के चेयरमैन शैलेंद्र दुबे ने रविवार को बताया कि तीन से छह अगस्त तक देश के विभिन्न राज्यों के हजारों बिजलीकर्मी व अभियंता दिल्ली में जंतर-मंतर पर बिल वापस लेने की मांग को लेकर विरोध दर्ज कर चुके हैं.

उन्होंने कहा यदि केंद्र सरकार इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2021 पारित कराने के लिए एकतरफा कार्यवाई करती है, 10 अगस्त के पहले बिल संसद में रखा जाता है तो बिजलीकर्मी उसी दिन हड़ताल करेंगे. उन्होंने इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2021 को जल्दबाजी में संसद से पारित कराने की बजाए इसे बिजली मामलों की स्टैंडिंग कमेटी को भेजने की मांग की.

अखिलेश यादव बोले- यूपी चुनाव 2022 में सपा जीती तो कराएंगे जातीय जनगणना

उन्होंने सभी राजनीतिक दलों को पत्र भेजकर बिल का विरोध करने का अनुरोध किया है. केरल विधानसभा ने बिल के विरोध में प्रस्ताव पारित किया है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर बिल का विरोध किया है. इसके अतिरिक्त तेलंगाना, तामिलनाडु, आंध्र प्रदेश, झारखंड, छत्तीसगढ़, राजस्थान, पंजाब व दिल्ली के मुख्यमंत्री ने भी बिल का विरोध किया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें