लापरवाही: सीवर लाइन डालना भूले इंजीनियर, सड़क पर भरे गंदे पानी से परेशान लोग

Smart News Team, Last updated: Thu, 29th Jul 2021, 1:35 PM IST
  • ऐशबाग के चित्ताखेड़ा में इंजीनियर 150 मीटर सीवर लाइन डालना भूल गए. जिससे यहाँ की सीवर लाइन मुख्य ट्रंक लाइन में नहीं जुड़ पाई. जिस वजह से अक्सर सड़कों पर सीवर का पानी भर जाता है. पिछले 8 महीनों से लगातार पंप चलाकर पानी निकाला जा रहा है. जिसमें अब तक 12 लाख रुपये खर्च हो चुके है.
सीवर लाइन न डलने से सड़क पर भरा गंदा पानी (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लखनऊ. राजधानी लखनऊ के ऐशबाग चित्ताखेड़ा में एक बड़ी लापरवाही सामने आई है. जहां इंजीनियर 150 मीटर सीवर लाइन डालना ही भूल गए. जिसका खामियाजा अब स्थानीय लोगों को भुगतना पड़ रहा है. लोगों के घर के बाहर सीवर का पानी लबालब भरा रहता है. जिस कारण उन्हें गंदे पानी से होकर गुजरना पड़ता है. पिछले आठ महीने से यहाँ पंप लगाकर सीवेज निकलवाया जा रहा है. इसके बावजूद अक्सर सड़क पर सीवर का पानी भर जाता है.

क्षेत्रीय पार्षद ममता चौधरी ने बताया कि ऐशबाग के चित्ताखेड़ा में जल निगम के इंजीनियरों ने करीब डेढ़ किलोमीटर में सीवर लाइन डालना छोड़ दिया है. जिससे यहाँ की सीवर लाइन मुख्य ट्रंक लाइन में नहीं जुड़ पाई. इस कारण अक्सर इस इलाके में सीवर का पानी भर जाता है और लोगों को परेशानी होती है. नगर निगम, जल संस्थान, जल निगम सहित सभी अफसरों से गुहार लगाई गई है. इसके अलावा पंप से सीवर भी निकाला जा रहा है.

मायावती की मांग, सुप्रीम कोर्ट करवाए अपनी निगरानी में पेगासस जासूसी कांड की जांच

चित्ताखेड़ा में सीवर का पानी भरने से सड़कें टापू बन जाती है. यहाँ आठ महीने से लगातार पंप चलाकर पानी निकाला जा रहा है. अभी तक 12 लाख रुपये केवल पंप के डीजल पर ही खर्च हो चुका है. पंप चलाने के लिए सूएज कंपनी के कर्मचारी यहाँ 8 महीने से 24 घंटे तैनात रहते है. इसके बाद भी कभी-कभी सीवर का पानी भर जाता है. जिस वजह से स्थानीय लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. जल कल महाप्रबंधक एसके वर्मा के मुताबिक समस्या का संज्ञान है. सूएज कंपनी पंप से सीवर निकाल रही है. इसके बावजूद सड़कों पर कभी-कभी पानी भर जाता है. लाइन के लिए जल निगम से कहा गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें