Corona Omicron Variant: UP में नई गाइडलाइन जारी, लखनऊ एयरपोर्ट पर टीम अलर्ट

ABHINAV AZAD, Last updated: Sat, 4th Dec 2021, 9:56 AM IST
  • कोरोना के नए वैरिएंट ओमीक्रॉन और कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के मद्देनजर योगी सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है. साथ ही लखनऊ एयरपोर्ट पर विशेष टीम को तैनात किया गया है. यह टीम विदेशों से आने वाले यात्रियों पर विशेष नजर रख रही है.
(प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने कोरोना के नए वैरिएंट के मद्देनजर नई गाइडलाइन जारी की है. साथ ही राजधानी लखनऊ समेत पूरे राज्य में सतर्कता बढ़ा दी गई है. जबकि इसके अलावा राज्य और विदेशों से आने वाले लोगों पर विशेष नजर रखी जा रही है. इस काम के लिए लखनऊ एयरपोर्ट पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से 16 टीम को तैनात किया है. साथ ही देश के 10 ऐसे शहरों को चिह्नित किया गया है, जहां से टूरिस्ट की आवाजाही अधिक है.

लखनऊ के सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल के मुताबिक, दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, गोवा, जयपुर, कोलकाता, अहमदाबाद, चेन्नई, कोच्चि और बेंगलुरु को चिन्हित किया गया है. इन शहरों से आने वाले यात्रियों पर विशेष नजर रखी जा रही है. साथ ही इन जगहों से आने वाले कुल यात्रियों में दस फीसद लोगों की रैंडम जांच कराई जा रही है. वहीं विदेश से आने वाले सभी यात्रियों का आरटीपीसीआर टेस्ट कराया जा रहा है. इसके अलावा निगेटिव आने पर भी उनका टेलीफोनिक सर्विलांस हो रहा है. रेलवे स्टेशन और बस स्टेशन पर भी थर्मल स्क्रीनिंग में या लक्षण के आधार पर जिस पर शक है उसकी जांच की जा रही है.

लखनऊ: विश्व दिव्यांग दिवस पर विशेष रोजगार मेला, स्वरोजगार के लिए 10 हजार की आर्थिक मदद

बताते चलें कि लखनऊ के इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर दुबई, शारजाह, अबु धाबी, मस्कट, ओमान, रियाद, जद्दा, दम्माम, कुवैत और जॉर्डन जैसे देशों सहित विश्व के कई प्रमुख शहरों से हर रोज़ सात से नौ डायरेक्ट फ्लाइ फ्लाइटस आती है. इन फ्लाइट्स से रोजाना तकरीबन 1500 से 1800 यात्री आते हैं. जबकि लखनऊ के डोमेस्टिक एयरपोर्ट पर मुंबई, दिल्ली, गोवा, कोलकाता, हैदराबाद, चेन्नई, बेंगलुरु, कोचीन, अहमदाबाद, जयपुर आदि जगहों से लगभग 25 फ्लाइटस आती है. डोमेस्टिक फ्लाइट्स से रोजाना तकरीबन 4500 यात्री शहर में दाखिल होते हैं. इसके मद्देनजर एयरपोर्ट प्रशासन विशेष निगरानी रख रहा है. ताकि, कोरोना के नए वैरिएंट और कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोका जा सके.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें