रिसर्च में खुलासा, Omicron के खिलाफ दुनिया के सभी वैक्सीन फेल, केवल ये दो कारगर

Somya Sri, Last updated: Mon, 20th Dec 2021, 11:36 AM IST
  • न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार शुरुआती रिसर्च में यह बात सामने आई है कि दुनिया भर के सभी वैक्सीन ओमिक्रोन के खिलाफ कारगर नहीं है. वहीं देश की कोविशील्ड वैक्सीन भी इसके सामने कारगर नहीं है. वहीं रूस, चीन समेत दुनिया के कई देशों द्वारा निर्मित वैक्सीन भी ओमिक्रोन के खिलाफ जंग में फेल है. फिलहाल केवल दो वैक्सीन ही कारगर है. इनमें फाइजर और मॉडर्ना शामिल है.
Covid-19 नया वेरिएंट ओमिक्रोन (फाइल फोटो)

लखनऊ: देश में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के केसेस लगातार बढ़ रहे हैं. अब तक देश भर में ओमिक्रोन के डेढ़ सौ मामले सामने आ चुके हैं. इस बीच कोरोना वायरस के इस नए वेरिएंट को लेकर कई रिसर्च किए जा रहे हैं. न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार शुरुआती रिसर्च में यह बात सामने आई है कि दुनिया भर के सभी वैक्सीन ओमिक्रोन के खिलाफ कारगर नहीं है. शोध के मुताबिक देश की कोविशील्ड वैक्सीन भी इसके सामने कारगर नहीं है. वहीं रूस, चीन समेत दुनिया के कई देशों द्वारा निर्मित वैक्सीन भी ओमिक्रोन के खिलाफ जंग में फेल है.

फाइजर और मॉडर्ना केवल दो वैक्सीन ही कारगर

शुरुआती शोध के मुताबिक कोरोना वायरस के इस नए वेरिएंट ओमिक्रोन के खिलाफ फिलहाल केवल दो वैक्सीन ही कारगर है. इनमें फाइजर और मॉडर्ना शामिल है. जो इस वक्त फिलहाल अमेरिका समेत कुछ ही देशों के पास उपलब्ध है. मालूम हो कि कोरोना के दो वैक्सीन लेने के बावजूद भी लोग ओमिक्रोन से संक्रमित हो रहे हैं. इस वजह से यह सवाल उठने लगा है कि आखिर कौन सा वैक्सीन इस नए वेरिएंट के खिलाफ जंग लड़ने में कारगर साबित हो सकता है. शुरुआती रिसर्च में फाइजर और मॉडर्ना ओमिक्रोन के खिलाफ कारगर साबित हुए हैं.

10वीं के छात्र ने बनाया अनोखा चश्मा, दृष्टिहीन पहचान सकेंगे चेहरा, पढ़ सकेंगे किताबें

रूस, चीन की वैक्सीन भी फेल

न्यूयार्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक एस्ट्राजेनेका , जॉनसन एंड जॉनसन और रूस की वैक्सीन भी ओमिक्रॉन के खिलाफ ज्यादा कारगर नहीं हैं. वहीं मॉडर्ना और फाइजर एमआरएनए तकनीक पर आधारित है. इसलिए अबतक कोरोना वायरस के सभी वेरिएंट पर यह कारगर साबित हुई है. जबकि चीन की दोनों वैक्सीन सिनोफार्म और सिनोवैक भी ओमिक्रोन के खिलाफ कारगर नहीं है.

सावधान! पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर खरीदा प्लॉट कहीं अवैध तो नहीं, डिटेल में जानें

एस्ट्रेजनेका व कोविशील्ड भी ओमिक्रोन के खिलाफ कारगर नहीं

वहीं ब्रिटेन के एक रिसर्च के मुताबिक एस्ट्रेजनेका भी ओमिक्रोन के खिलाफ कारगर साबित नहीं हुई है. जबकि भारत देश में कोविशील्ड के नाम से लोगों को यही वैक्सीन लगाई गई है. लेकिन ओमीक्रोन के खिलाफ कारगर साबित नहीं होने की वजह से अब यह चिंता का विषय बन रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें