नीति आयोग की रिपोर्ट में खुलासा- यूपी, बिहार, झारखंड देश के सबसे गरीब राज्य

Shubham Bajpai, Last updated: Fri, 26th Nov 2021, 5:54 PM IST
  • नीति आयोग ने शुक्रवार को देश का पहला मल्टीडायमेंशनल पॉवर्टी इंडेक्स जारी किया. इस रिपोर्ट में कई चौंकाने वाली बात सामने आई है. इस रिपोर्ट के अनुसार, भारत में बिहार सबसे गरीब राज्य है. जहां की 51.91 फीसदी आबादी गरीब है. 42.15 फीसदी के साथ झारखंड और 37.79 फीसदी के साथ उत्तर प्रदेश सबसे गरीब राज्य है.
नीति आयोग की रिपोर्ट में खुलासा- यूपी, बिहार, झारखंड देश के सबसे गरीब राज्य

लखनऊ. नीति आयोग ने शुक्रवार को बहुआयामी गरीबी सूचकांक (एमपीआई) की रिपोर्ट जारी की. इस रिपोर्ट में स्वास्थ्य, शिक्षा व जीवनस्तर समेत 12 सूचकांकों को लेकर आकलन करते हुए रिपोर्ट पेश की गई. जिसमें ये बात सामने आई है कि भारत का सबसे गरीब राज्य बिहार है. बिहार के बाद दूसरे नंबर पर झारखंड, तीसरे नंबर पर उत्तर प्रदेश और चौथे नंबर पर मध्य प्रदेश है.

इस सूचकांक में पोषण, घर, संपत्ति, बैंक खाते, पेयजल, बिजली, स्कूल में बच्चों की उपस्थिति, पढ़ाई के साल, शिशु किशोर मृत्युदर और प्रसव पूर्व स्वास्थ्य सुविधा की उपलब्धता जैसे कई बिंदुओं को शामिल किया गया.

मौत के बाद संबंधित शख्स के आधार और पेन का क्या करना चाहिए... जानें पॉलिसी

बिहार में 51.91 फीसदी, झारखंड में 42.16 फीसदी

सूचकांक के अनुसार, बहुआयामी गरीबी सूचकांक में बिहार में गरीबी में पहले नंबर में 51.91 फीसदी, झारखंड में 42.16 फीसदी गरीब है और उत्तर प्रदेश में 37.79 फीसदी गरीब है. चौथे नंबर में मध्य प्रदेश है जहां 36.65 फीसदी आबादी गरीब है.

कुपोषण में भी बिहार टॉप पर

इस सूचकांक में 12 सूचकों में से 11 में टॉप 5 को ही शामिल किया है. ये इंडेक्स राष्ट्रीय, राज्य व जिला स्तर पर नीति, योजनाओं के निर्माण व नई नीतियों को बनाने में मदद करेगी. वहीं, इस रिपोर्ट में चिंता वाली बात ये है कि बिहार राज्य कुपोषण में भी टॉप पर है .

डेब्यू मैच में श्रेयस अय्यर ने रचा इतिहास, कानपुर के मैदान पर तोड़ा 52 साल का ये रिकॉर्ड

कम गरीबी में केरल टॉप पर

सूचकांक में कम गरीबी वाले राज्यों की बात की जाए तो केरल में सबसे कम गरीबी है. इसका आंकड़ा 0.71 फीसदी, इसके बाद गोवा में 3.76 फीसदी, सिक्किम में 3.82 फीसदी, तमिलनाडु में 4.89 फीसदी और पंजाब में 5.59 फीसदी गरीब हैं. इन राज्यों में गरीबी का आंकड़ा कुल मिलाकर भी बात करें तो ये गरीब देश के बहुत छोटे से हिस्से के बराबर है.

केंद्र शासित में जम्मू और कश्मीर व लद्दाख गरीबी में दूसरे स्थान पर

केंद्र शासित राज्यों की बात करें तो सबसे अधिक गरीबी दादरा और नगर हवेली में है. यहां पर करीब 27.36 फीसदी गरीबी है. इसके बाद दूसरे स्थान पर जम्मू और कश्मीर व लद्दाख में 12.58 फीसदी, दमन और दीव में 6.82 फीसदी और चंडीगढ़ में 5.97 फीसदी गरीब लोग हैं. वहीं, सबसे कम गरीब पुडुचेरी में है, जहां 1.72 फीसदी आबादी ही गरीब है. देश की राजधानी दिल्ली की बात करें तो यहां गरीब आबादी का आंकड़ा 4.79 फीसदी है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें