क्या टीकाकरण के दौरान लोगों को मिलेगा वैक्सीन चयन करने का विकल्प? जानें जवाब

Smart News Team, Last updated: Sat, 16th Jan 2021, 7:47 AM IST
  • 16 जनवरी यानी आज से देशव्यापी स्तर पर कोरोना वैक्सीनेशन अभियान शुरू हो गया है. ऐसे में लोगों के मन में कई तरह के सवाल उठ रहे हैं. दोनों वैक्सीन में से कौन सी वैक्सीन अच्छी है? क्या लोगों के पास दोनों वैक्सीन में से चयन करने का विकल्प मिलेगा?
कोरोना वैक्सीन के चयन का विकल्प नहीं मिलेगा.

लखनऊ. ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ( डीसीजीआई ) ने ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका के कोविशिल्ड और भारत बायोटेक के कोवाक्सिन को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है. 16 जनवरी यानी आज से देशव्यापी स्तर पर कोरोना वैक्सीनेशन अभियान शुरू हो गया है. पूरे देश में दो वैक्सीन के साथ वैक्सीनेशन की शुरुआत हो रही है. ऐसे में लोगों के मन में कई तरह के सवाल उठ रहे हैं. दोनों वैक्सीन में से कौन सी वैक्सीन अच्छी है? क्या लोगों के पास दोनों वैक्सीन में से चयन करने का विकल्प मिलेगा?

क्या लोगों के पास दोनों वैक्सीन में से चयन करने का विकल्प मिलेगा?

इस सवाल के जवाब में अधिकारियों का कहना है कि कोरोना टीकाकरण अभियान के दौरान लोगों के पास वैक्सीन के चयन के विकल्प नहीं होंगे. स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि दुनिया भर के कई देशों में एक से अधिक कोरोना वैक्सीन का यूज किया जा रहा हैं. इन देश के लोगों को के पास ऐसा कोई विकल्प नहीं है. ऐसे में भारत में भी हो सकता है कि लोगों को वैक्सीन के चयन का विकल्प नहीं मिलेगा. भारत में कोरोना टीकाकरण स्वैच्छिक है.

कोरोना वैक्सीन को लेकर अफवाहों से हैं परेशान, यहां जानें क्या है सच और झूठ

दोनों वैक्सीन में से कौन सी वैक्सीन अच्छी है?

इस सवाल के जवाब में अधिकारियों ने बताया कि इसमें कोई संदेह नहीं होना चाहिए कि दोनों वैक्सीन सबसे सुरक्षित हैं. इन दोनों टीकों का हजारों लोगों पर परीक्षण किया गया है. इस तरह का दावा भ्रामक है. इसके कोई मायने नहीं हैं. उन्होंने कहा कि कोरोना टीका लेने के बाद भी हमें मास्क और दो गज की दूरी का पालन करना जरूरी है.

कोरोना वैक्सीनेशन के फर्जी एप से ऐसे बचें वरना आप हो जाएंगे साइबर ठगी के शिकार

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें