Jewar International Airport ने बढ़ाई जमीन की कीमत, होटल उद्योग व पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

Somya Sri, Last updated: Thu, 25th Nov 2021, 10:01 AM IST
  • नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा जेवर निर्माण के बाद उत्तर प्रदेश को एक नई उड़ान देगा. इस हवाई अड्डे से जमीनों की कीमत में उछाल आया है. ग्रेनो प्राधिकरण में व्यावसायिक भूखंडों की मांग बढ़ी है. वहीं ग्रेनो और यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में होटल इंडस्ट्री को पंख लगेंगे. एयरपोर्ट, फिल्म सिटी, हेरिटेज सिटी से होटल इंडस्ट्री में उछाल आने की उम्मीद है. साथ ही एयरपोर्ट के निर्माण से विदेशी छात्रों की संख्या बढ़ेगी. ग्रेनो के एजुकेशन हब को और बड़ी ताकत मिलेगी. साथ ही इलाके में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा.
Noida international Airport ने बढ़ाई जमीन की कीमत, होटल उद्योग व पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा (फोटो साभार- हिंदुस्तान टाइम्स)

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ नोएडा के जेवर में अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा का शिलान्यास करेंगे. नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा निर्माण के बाद प्रदेश को एक नई उड़ान देगा. इस हवाई अड्डे से जमीनों की कीमत में उछाल आया है. ग्रेनो प्राधिकरण में व्यावसायिक भूखंडों की मांग बढ़ी है. रिपोर्ट के मुताबिक इस बार रिकॉर्ड तोड़ 1 लाख रुपये प्रति वर्ग मीटर की दर से व्यावसायिक भूखंड बिका है. वहीं नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण से ग्रेनो और यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में होटल इंडस्ट्री को पंख लगेंगे. एयरपोर्ट, फिल्म सिटी, हेरिटेज सिटी से होटल इंडस्ट्री में उछाल आने की उम्मीद है.

एजुकेशन हब को मिलेगी ताकत, बनेगा हैरिटेज कॉरिडोर

जानकारों की माने तो उत्तर प्रदेश में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के बनने से विदेशी छात्रों की संख्या बढ़ेगी. ग्रेनो के एजुकेशन हब को और बड़ी ताकत मिलेगी. वहीं एयरपोर्ट के बाद से इलाके में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा. यहां से मथुरा, वृंदावन और आगरा नजदीक है. जिसका फायदा एयरपोर्ट को मिलेगा.

यूपी में 65 KM का श्रीराम इंडस्ट्रियल हब बनाएगी योगी सरकार, लाखों को मिलेगी नौकरी, रोजगार

देश का पहला प्रदूषण मुक्त एयरपोर्ट

जानकारी के मुताबिक साल 2024 में एयरपोर्ट शुरू हो जाएगा. यह देश का पहला प्रदूषण मुक्त एयरपोर्ट होगा. एमआरओ, मेडिकल डिवाइस पार्क, फिल्म सिटी, ईस्टर्न, वेस्टर्न फ्रेट कारिडोर, मल्टी माडल लॉजिस्टिक हब से क्षेत्र में बड़े निवेश के साथ रोजगार की असीम संभावनाएं होंगी.

एयरपोर्ट के निर्माण पर खर्च होंगे 35 हजार करोड़

एक मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का पहला चरण दस हजार करोड़ रुपये का होगा. पूरी परियोजना में 34 से 35 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे. बता दें कि एयरपोर्ट के बन जाने से ये एशिया का सबसे बड़ा हवाईअड्डा कहलायेगा.

आगरा से यूपी SI भर्ती परीक्षा देकर मथुरा लौट रही लड़की के साथ चलती कार में गैंगरेप

प्रदेश में खुलेंगे रोजगार के द्वार

मिली जानकारी के मुताबिक नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से 1 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा. वहीं मेडिकल डिवाइस पार्क से 2 लाख, फिल्म सिटी से 35 हजार, अपैरल पार्क से दो लाख, एमएसएमई से 1 लाख, हैंडीक्राफ्ट से 70 हजार, टॉय सिटी से 50 हजार और बाकी सीएम योगी द्वारा किये जा रहे इंफ्रास्ट्रक्चर के कार्यों से 1 लाख 25 हजार लोगों को रोजगार प्राप्त होगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें