अब जिलों के औचक दौरे पर निकलेंगे सीएम योगी, जानेंगे हकीकत

Smart News Team, Last updated: 15/12/2020 11:54 AM IST
  • बीते शनिवार को मुख्यमंत्री ने अपनी सुरक्षा की परवाह किए बिना मुरादाबाद से गाजियाबाद तक कार से जाकर यह संकेत भी दे दिए हैं. इस खबर से यूपी के अफसरों में हड़कंप मचा है.
यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ

लखनऊ: सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ अब बदले हुए तेवर में नजर आएंगे. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अब जनता का मिजाज और शहर की साफ-सफाई तथा अन्य सरकारी व्यवस्थाओं का हाल जानने के लिए अचानक ही किसी भी शहर में कार से पहुंच सकते हैं. बीते शनिवार को मुख्यमंत्री ने अपनी सुरक्षा की परवाह किए बिना मुरादाबाद से गाजियाबाद तक कार से जाकर यह संकेत भी दे दिए हैं. इस खबर से यूपी के अफसरों में हड़कंप मचा है.

दरअसल मुरादाबाद से गाजियाबाद जाते हुए मुख्यमंत्री को कई जगहों पर गंदगी दिखी. तो उन्हें कई शहरों में कार्यरत अफसरों के लापरवाह मिजाज का पता चला. जिसके चलते सोमवार को मुख्यमंत्री ने लखनऊ में साफ-सफाई का कार्य देखने वाले उच्चाधिकारियों को तलब कर सूबे के कई शहरों की साफ- सफाई की व्यवस्था को चुस्त दुरुस्त करने का निर्देश दिया. अब यह चर्चा है कि सूबे की चिकित्सा, शिक्षा और साफ-सफाई की हकीकत जानने के लिए मुख्यमंत्री राज्य के किसी भी जिले में अचानक की कार से पहुंच सकते हैं.

पशुपालन विभाग टेंडर घोटाले में फरार 50 हजार का इनामी सिपाही दिलबहार गिरफ्तार

बता दें कि पिछले दिनों सीएम योगी मुरादाबाद से गाजियाबाद के लिए चले तो हैलीकाप्टर के पायलट ने कहा कि मौसम खराब होने के कारण हैलीकाप्टर नहीं उड़ सकता. जिसके बाद सुरक्षाधिकारियों ने कैलाश मानसरोवर भवन के लोकार्पण कार्यक्रम को स्थगित करने की सलाह दी. इस पर सीएम योगी ने कहा कि वह गाजियाबाद जाकर लोकार्पण हर हाल में करेंगे. इसके बाद मुख्यमंत्री सड़क मार्ग से गाजियाबाद पहुंचे थे.

पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी, यूपी समेत इन राज्यों में पड़ेगी कड़ाके की ठंड़

ऐसा नहीं है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहली बार किसी शहर में कार से अचानक पहुंचे हैं. इसके पहले भी वह कई जिलों में अस्पताल और मंडी स्थलों में धान और गेंहू खरीद की हकीकत जानने पहुंच चुके हैं. अब वह सीधे जनता से संवाद करने तथा जनता का मिजाज जानने और सरकारी कामकाज की हकीकत जानने के लिए अचानक किसी शहर में कार से निरीक्षण करने पहुंचेंगे. ऐसी चर्चा होने लगी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें