खुशखबरी: ड्राइविंग लाइसेंस के लिए नहीं देना होगा टेस्ट, यहां जानें पूरी जानकारी

Smart News Team, Last updated: Sun, 4th Jul 2021, 1:33 PM IST
  • ड्राइविंग लाइसेंस आवेदन करने वालों के लिए एक खुशखबरी है. केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा एक संशोधित नियम गुरुवार को लागू हुआ है. जिसमें उम्मीदवारों को ड्राइविंग टेस्ट दिए बिना ड्राइविंग लाइसेंस मिल जाएगा.
परिवहन मंत्रालय के नए नियम के अनुसार ड्राइविंग टेस्ट दिए बिना ड्राइविंग लाइसेंस मिल जाएगा

लखनऊ. परिवहन मंत्रालय ड्राइविंग लाइसेंस लेने वालों की परेशानी को मुक्त करने के लिए एक नियम लेकर आया है. इस नियम के अनुसार उम्मीदवार ड्राइविंग टेस्ट दिए बिना लाइसेंस प्राप्त कर सकते हैं. केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय का यह संशोधित नियम 1 जुलाई से लागू हो गया है.

नए नियमों में आगे कहा गया है कि ड्राइवरों को ड्राइविंग कोर्स दिए जाएंगे और टेस्ट पास करने के बाद उन्हें लाइसेंस प्राप्त करने के समय ड्राइविंग टेस्ट देने के लिए नहीं कहा जाएगा. मंत्रालय ने अधिक ज्ञान और योग्यता की कमी के कारण नियम में संशोधन किया है. जो सड़कों पर एक प्रमुख मुद्दा माना जाता है. इसके साथ ही ऐसे मुद्दों के कारण देश भर में बड़ी संख्या में सड़क दुर्घटनाएं हो रही हैं.

लाइसेंस आवेदकों के लिए, ड्राइविंग प्रशिक्षण स्कूल उच्च गुणवत्ता वाले प्रशिक्षण के लिए सिमुलेटर और एक परीक्षण ट्रैक से लैस होंगे. इसके साथ ही हल्के मोटर वाहन का ड्राइविंग कोर्स शुरू होने की तारीख से चार सप्ताह के लिए 29 घंटे का होगा. आवेदक ध्यान दें कि पाठ्यक्रम को दो भागों में विभाजित किया जाएगा जिसमें थ्यौरी और प्रेक्टिस रहेगी.

CM योगी ने ओवैसी का बताया बड़ा नेता, बोले- लेकिन BJP ही जीतेगी 2022 का विधानसभा चुनाव

प्रशिक्षण केंद्रों में मध्यम और भारी मोटर वाहन ड्राइविंग पाठ्यक्रमों की समय अवधि 38 घंटे है जो छह सप्ताह के लिए है. प्रशिक्षण प्रक्रिया के दौरान, आवेदक सड़क पर अन्य लोगों के साथ कुछ बुनियादी नैतिक और विनम्र व्यवहार भी सीखेंगे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें