अखिलेश यादव के बाद राजभर ने दिखाया जिन्ना प्रेम, BJP बोली- खरबूजे को देखकर...

Smart News Team, Last updated: Wed, 10th Nov 2021, 6:43 PM IST
  • यूपी में जिन्ना विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा. अखिलेश यादव के बाद अब सपा के गठबंधन साथी ओम प्रकाश राजभर ने जिन्ना को लेकर कहा कि अगर उन्हें पहला प्रधानमंत्री बनाया होता तो देश का कभी बंटवारा नहीं होता.
फोटो में अखिलेश यादव और ओम प्रकाश राजभर

लखनऊ. विधानसभा चुनाव 2022 से पहले यूपी में जिन्ना विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. अखिलेश यादव के बयान के बाद अब समाजवादी पार्टी के गठबंधन साथी ओम प्रकाश राजभर ने जिन्ना पर विवादित बयान दिया है. सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि अगर जिन्ना को देश का पहला प्रधानमंत्री बना दिया होता तो देश नहीं बंटता. ओम प्रकाश के इस बयान पर यूपी बीजेपी ने जमकर हमला बोला है. भाजपा ने कहा है कि सपा के साथ आने के बाद अब ओम प्रकाश राजभर इतना ही बोलते हैं जितना अखिलेश सिखाते हैं.

गौरतलब है कि ओम प्रकाश राजभर ने पत्रकारों से बात करते हुए यह विवादित बयान दिया. इस दौरान पत्रकारों से उन्होंने कहा कि आप लोग जिन्ना के अलावा महंगाई का सवाल क्यों नहीं पूछते हैं. ऐसा सब सिर्फ भाजपा की वजह से हो रहा है. राजभर ने आगे कहा कि बीजेपी से अगर भारत-पाकिस्तान या हिंदू-मुसलमान हटा दें तो उन सभी की जुबान बंद हो जाती है.

यूपी में जिन्ना विवाद: बयान पर कायम अखिलेश यादव बोले- फिर किताबें पढ़ें...

भाजपा ने ओम प्रकाश राजभर के बयान पर करारा हमला किया और कहा '' एक कहावत है- खरबूजे को देखकर खरबूजा रंग बदलता है. जब से ओम प्रकाश सपा में शरणागत हुए हैं, उतना ही बोलते हैं, जितना अखिलेश सिखाते हैं. चुनाव आते-आते ओम प्रकाश जी अपनी पार्टी का विलय सपा में कर दें तो कोई आश्चर्य न होगा.''

बता दें कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने पाकिस्तान के महानायक मोहम्मद अली जिन्ना को स्वतंत्रता सेनानी बताते कई बड़े लोगों से तुलना की थी. इसके बाद काफी विवाद भी हो गया था लेकिन अखिलेश यादव अपने बयान से नहीं पलटे और बाद में कहा कि जो लोग विरोध कर रहे हैं उन्हें किताबें पढ़नी चाहिए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें