यूपी में चुनाव आयोग का दल एक्शन मोड में, लखनऊ में सभी पार्टियों के साथ बैठक

Swati Gautam, Last updated: Tue, 28th Dec 2021, 6:57 PM IST
  • कोरोना वायरस के नए संक्रमण ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे के बीच यूपी चुनाव होने या टालने के फैसले को लेकर निर्वाचन आयोग एक्शन मोड में आ गया है. 28 दिसंबर से आयोग की टीम तीन दिन के दौरे पर लखनऊ में है. मंगलवार शाम 4 बजे भारत निर्वाचन आयोग की टीम ने प्रदेश में सभी राजनीतिक पार्टियों के साथ बैठक की. इस बैठक में केवल मान्यता प्राप्त कैमरामैन एवं छायाकार बंधुओं को 2 मिनट की फोटो अपॉर्चुनिटी दी गई.
भारत निर्वाचन आयोग की टीम तीन के दौरे पर लखनऊ पहुंची

लखनऊ. कोरोना वायरस के नए संक्रमण ओमिक्रॉन के खतरे के बीच उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव होने या टालने के फैसले को लेकर भारत निर्वाचन आयोग की टीम तीन दिन के दौरे पर लखनऊ पहुंची है. जानकारी अनुसार मंगलवार शाम 4 बजे भारत निर्वाचन आयोग की टीम ने प्रदेश में सभी राजनीतिक पार्टियों के साथ बैठक करने का फैसला लिया और शाम सवा चार बजे सभी जिलों के डीएम व नोडल अधिकारियों के साथ बैठक हुई. इस बैठक में विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक रैलियों को रोकने समेत कोरोना गाइडलाइंस को लेकर भी चर्चा हो सकती है. साथ ही सभी राजनीतिक पार्टियों से चुनाव होने या न होने पर फीडबैक भी लिया जा सकता है. हालांकि अभी तक आयोग की इस बैठक के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई है.

जानकारी अनुसार निर्वाचन आयोग की लखनऊ में योजना भवन में यह बैठक हो रही हैं. सूचना अनुसार निर्वाचन आयोग ने यह कहा था कि 'केवल मान्यता प्राप्त कैमरामैन एवं छायाकार बंधुओं को 2 मिनट की फोटो अपॉर्चुनिटी दी जाएगी. कृपया कोविड-19 का पालन करते हुए फोटो कवरेज कराने का कष्ट करें.' यह बैठक यूपी चुनावों के लिए काफी अहम मानी जा रही है. यूपी में निर्वाचन आयोग के तीन दिन के दौरे में राजनीतिक पार्टियों, आला अधिकारियों और सभी 75 जिलों के जिलाधिकारियों के साथ मीटिंग होंगी. मीटिंग में आने वाले फीडबैक ही यूपी चुनाव होने या टालने का फैसला लिया जाएगा.

UP चुनाव: रैली में बोले अमित शाह, सपा की ABCD पर बीजेपी ने फेरा पानी,समझाया मतलब

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भेजी थी चिट्ठी

मालूम हो कि हाल ही में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चुनाव आयोग से कोरोना संक्रमण ने बढ़ते खतरे के बीच यूपी चुनाव टालने और रैलियों पर तुरंत पाबंदी लगाने का अनुरोध किया था. हाईकोर्ट के जज शेखर यादव ने चुनाव आयोग और पीएम मोदी से चुनाव टालने का आग्रह किया और कहा कि 'जान है तो जहान है.' इलाहाबाद हाईकोर्ट की चिट्ठी भेजे जाने के बाद यह मामला और संजीद हो गया है. निर्वाचन आयोग ने भी इस पर फैसला लेने की ठान ली है. एक तरफ सभी राजनीतिक पार्टियां यूपी में सरकार बनाने की जुगत में लगी हैं और जगह-जगह पर जनसभा और रैलियां कर रही हैं. वहीं दूसरी तरफ निर्वाचन आयोग कोरोना की तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए यूपी चुनाव होने या टालने के फैसले की तैयारियों में जुट गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें