CM योगी बोले- पीएम के संकल्प को करेंगे पूरा, यूपी 2025 से पहले बनेगा टीबी मुक्त

Smart News Team, Last updated: Thu, 25th Mar 2021, 11:23 AM IST
  • मुख्यमंत्री योगी ने बीते बुधवार को सीतापुर में आयोजित विश्व क्षय रोग दिवस प्रोग्राम में कहा कि उत्तर प्रदेश 2025 से पहले ही टीबी मुक्त हो जाएगा. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के संकल्प के अनुसार 2025 तक भारत को टीबी से मुक्त बनाया जाएगा. इसके अनुरूप ही यूपी भी 2025 तक टीबी से मुक्त होगा.
विश्व क्षय रोग दिवस पर सीएम योगी ने कहा, यूपी 2025 से पहले बनेगा टीबी मुक्त

लखनऊ. विश्व क्षय रोग दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री योगी के कहा कि उत्तर प्रदेश 2025 से पहले टीबी मुक्त हो जाएगा. उन्होंने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनिया को टीबी रोग से मुक्त करने के लिए साल 2030 तक का लक्ष्य रखा है. लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने संकल्प लिया है कि 2025 तक ही भारत को टीबी मुक्त बना लिया जाएगा. जिसके अनुरूप ही यूपी भी 2025 तक टीबी मुक्त हो जाएगा.

बीते बुधवार को सीएम योगी सीतापुर के कसमंडा ब्लॉक के सुरैंचा गांव में गए थे. जहां गांव में स्थित विद्याज्ञान विद्यालय में विश्व क्षय रोग दिवस का कार्यक्रम आयोजित किया गया था. सीएम योगी ने इस कार्यक्रम में कहा कि जिस तरह इंसेफलाइटिस का प्रदेश से पूर्ण रूप से नाश हुआ, उसी तरह 2025 तक टीबी से भी राज्य को मुक्ति मिल जाएगी.

बी एल मीणा को शिया वक्फ बोर्ड का प्रशासक बनाने का फैसला वापस

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में हेल्थ इंफास्ट्रक्चर के कमजोर होने के बावजूद प्रदेश ने कोरोना पर सफलता प्राप्त की. यह सामूहिक ताकत और विशेष रणनीति का ही परिणाम है जो आज यूपी में कोरोना पर अंकुश लग पाया है. सीएम ने इसके अलावा 21 जिलों में बनने वाले ड्रग वेयर हाउस का भी शिलान्यास किया. इसके साथ ही 451 ट्रूनेट मशीनों एवं 25 डिजिटल एक्सरे मशीनों का लोकार्पण किया. 

UPSSSC ग्राम विकास अधिकारी भर्ती परीक्षा हुई निरस्त, 1953 पदों पर हुई थी परीक्षा

उन्होंने बताया कि फतेहपुर, बस्ती, फर्रुखाबाद, औरेया, रायबरेली, वाराणसी एवं बाराबंकी में औषधि भंडार केंद्र भी बनेगा. इसके अलावा गोरखपुर में बने एलपीए लैब एवं रीजनल टीबी प्रोग्राम मैनेजमेंट यूनिट (आरटीपीएमयू) का शुभारंभ भी किया गया. साथ ही मेरठ में स्थापित एलपीए लैब भी प्रारंभ की गयी.

UP पंचायत चुनाव: नीतीश कुमार की जेडीयू ने किया चुनावी मैदान में उतरने का फैसला

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें