पेरिस ओलम्पिक 2024 में शामिल होगा ब्रेक डांस, यूपी के डांसर्स में खुशी की लहर

Smart News Team, Last updated: 10/12/2020 04:27 PM IST
  • पेरिस ओलम्पिक 2024 में ब्रेक डांस को शामिल किया जाएगा. जिसके लिए मंगवार को जेनेवा में बैठक हुई. ओलम्पिक में ब्रेक डांस को ब्रेकिंग के नाम से जाना जाएगा.
भरोसा गांव में ब्रेक डांसरों के जेएमडी क्रू के सदस्य अभ्यास करते हुए

लखनऊ, अनंत मिश्र

अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति की बैठक मंगलवार को जेनेवा में हुई. इस बैठक में 2024 में पेरिस में होने वाले ओलम्पिक खेलों में नए चार खेलों को शामिल किया जाएगा, जिसमे से एक खेल ब्रेक डांस भी है. ब्रेक डांस को ओलम्पिक में शामिल होने की खबर से सभी ब्रेक डांसर के बिच खुशी की लहर दौड़ गई है. अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि इसमें कौन-कौन सी स्पर्धाए और नियम होंगे. ये सभी चीजे अगले साल मार्च में तय होने की खबर है. ओलम्पिक में ब्रेक डांस को ब्रेकिंग नाम से जाना जाएगा.

देश में कई ऐसे कमाल के ब्रेक डांसर है जिन्हे रोज अपने पेशे को लेकर ताने और बाते सुनने को मिलती है, लेकिन अब जब ब्रेक डांस को ओलम्पिक खेलों में शामिल कर लिया गया है तो उन्हें अब इससे सरकारी विभागों में नौकरी भी मिल सकेगी. ब्रेक डांस के ओलम्पिक खेलों में शामिल कर लिया गया है तो उन्हें अब डांसर के रूप ने बल्कि एक खिलाडी के रूप में देखा जाएगा. जिससे सभी ब्रेक डांसर बहुत खुश है कि वह अब ओलम्पिक खेल पाएंगे.

RBI ने UP प्राइमरी को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड ग्राहकों के लिए निकासी की बढ़ाई सीमा

जब बनेगा संघ तो मान्यता भी मिलेगी

भारतीय ओलंपिक संघ के कोषाध्यक्ष डा. आनंदेश्वर पाण्डेय ने बताया कि ब्रेक डांस को अब ओलम्पिक में शामिल कर लिया गया है. जब अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति की तरफ से इसके दिशानिर्देश आ जाएंगे तो भारत में भी उसका अमल करते हुए ब्रेक डांस से संबंधित संघ को बनाया जाएगा और उसे मान्यता भी दी जाएगी, फ़िलहाल अभी तक ब्रेक डांस से संबंधित कोई संगठन नहीं है.

लखनऊ में पतंगबाजी से फिर प्रभावित हुई मेट्रो सेवा, थाने में FIR दर्ज

ब्रेक डांसरो को अब मिलेगी सरकारी नौकरी

ओलम्पिक खेलों में ब्रेक डांस के शामिल हो जाने के बाद अब देश में उन्हें उनके हुनर के दम पर नौकरी मिल सकेगी. अभी तक केवल सांस्कृतिक कोटे से जो नौकरिया मिलती है उनमे से 90 फीसद क्लासिकल गायन और शास्त्रीय नृ्त्य सिखाने वालों को ही मिलती आई है. केंद्र और राज्य सरकारें खेल कोटे के तहत अभी ओलम्पिक खिलाडियों को सरकारी नौकरी देती है, इसी तरह अब ब्रेक डांसरों को भी सरकारी नौकरी मिलने का रास्ता खुल गया है.

मां-बाप को परेशान करके संपत्ति लेने वालों पर कार्रवाई, UP सरकार उठाएगी बड़ा कदम

खिलाड़ियों के चेहरे खिले

लखनऊ के सरोसा भरोसा गांव में डांस अकादमी चलने वाले सोनू रावत ने कहा कि यदि ब्रेक डांस ओलम्पिक खेलों में शामिल हो गया तो उनके जैसे लाखो डांसरों कि किस्मत खुल जाएगी. साथ ही वह लोगों के नजर में डांसर नहीं बल्कि खिलाड़ी कहलाएंगे और लोगों के नजर में उनकी इज्जत भी बढ़ेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें