यूपी में सड़क नहीं तो वोट नहीं, रोड ना बनने से नाराज लोगों ने किया चुनाव का बहिष्कार

Swati Gautam, Last updated: Thu, 13th Jan 2022, 6:09 PM IST
  • उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 की तारीखों का ऐलान हो चुका है वहीं यूपी के बीकेटी के सिंहामऊ में ग्रामीणों ने चुनाव बहिष्कार करके का फैसला लिया है. ग्रामीणों का कहना है कि जब तक सिंहामऊ की सड़कें नहीं बन जाती जब तक वे लोग वोट देने नहीं जाएंगे. ग्रामीण लगातार नारे लगा रहे हैं कि रोड नहीं तो वोट नहीं.
यूपी के बिकेटी में ग्रामीणों ने किया चुनाव का बहिष्कार

लखनऊ. देश के उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड समेत 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं जिनकी तारीखों का ऐलान भी हो चुका है तो दूसरी तरफ बीकेटी के सिंहामऊ में ग्रामीणों ने चुनाव बहिष्कार करके का फैसला लिया है. ग्रामीणों का कहना है कि जब तक सिंहामऊ की सड़कें नहीं बन जाती जब तक वे लोग वोट देने नहीं जाएंगे. ग्रामीण लगातार नारे लगा रहे हैं कि रोड नही तो वोट नहीं. ग्रामीणों के चुनाव बहिष्कार के फैसले के बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया है. 

सिंहामऊ की आक्रोशित जनता ने रोड नही तो वोट नहीं, झूठे वादे नही चलेंगे आदि तमाम नारों के साथ प्रदर्शन कर मतदान बहिष्कार करने का ऐलान कर दिया है. ग्रामीणों का कहना है कि यदि लोगों को जबरदस्ती मतदान के लिए भेजा जाता है तो वह किसी को वोट नहीं देंगे और नोटा का बटन दबाएंगे. बता दें कि सिंहामऊ की सड़कें काफी समय से बहुत बुरी स्थिति में हैं. जगह-जगह गड्ढे बन हुए हैं. चुनावों के समय जनता से सड़कें बनाने के वादे तो किये जाते हैं लेकिन अभी तक इन वादों को किसी ने पूरा नहीं किया है.

यूपी चुनाव: गोरखपुर, मऊ, ललितपुर, हापुड़ में नए सपा जिलाध्यक्ष नियुक्त, लिस्ट

अक्सर देखा जाता है चुनावों से पहले नेता झूठे वादे करके जनता को विश्वास दिलाते हैं और चुनावों में जीत जाने के बाद गांव में विकास का कोई कार्य नहीं होता है. लेकिन अब सिंहामऊ के ग्रामीण क्षेत्रीय विधायक के खिलाफ अपना विरोध खुल कर सामने ला रहे हैं और झूठे वादों के नाम पर वोट न देने की घोषणा कर चुके हैं. ग्रामीणों का कहना है कि विकास के नाम पर बस जनता को ठगा गया है. जनता ने प्रदर्शन व नारेबाजी कर रोड व नाली बनाने की मांग की है. साथ ही यह भी ठान लिया है कि जबतक रोड और नाली नहीं तब तक मतदान करने कोई भी ग्रामीण नहीं जायेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें