PGI लखनऊ के डॉक्टर ने कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल जीन को खोजा, हर्ट रोग के इलाज में मदद

Smart News Team, Last updated: 22/10/2020 08:53 PM IST
  • लखनऊ के पीजीआई में इंडोक्राइनोलाॅजी विभाग के डाॅक्टर रोहित सिन्हा ने काॅलेस्टराॅल को कंट्रोल करने वाले जीन की खोज की. इस जीन से कैंसर और हर्ट अटैक जैसी बीमारियों को कम करने में मदद मिलेगी.
पीजीआई लखनऊ के डाॅ. रोहित सिन्हा ने काॅलेस्टराॅल को नियंत्रित करने वाले जीन की खोज की.

लखनऊ. लखनऊ के पीजाआई डाॅक्टर ने कोलेस्टराॅल को कंटोल करने वाले जीन की खोज की है. लीवर के कोलेस्ट्रॉल को कम करने वाले इस जीन की खोज पीजीआई डाॅक्टर रोहित सिन्हा ने की है. हर्ट अटैक और कैंसर जैसी बीमरियों के लिए कारगर साबित होने वाले इस जीन का नाम यूएलके वन है.

इस जीन की खोज करने वाले डाॅक्टर रोहित सिन्हा पीजीआई के इंडोक्राइनोलाॅजी विभाग में काम करते हैं. यूएलके वन नाम के इस जीन की खोज डाॅक्टर रोहित सिन्हा और रिसर्चर संगम रजक ने किया. दोनों ने  इटली और सिंगापुर के शोधकर्ताओं के साथ मिलकर इस जीन की खोज की. 

यूपी के लखनऊ और मेरठ में जहरीली हुई हवा, खराब प्रदूषण के चलते टॉप-3 में जगह

यूएलके जीन लीवर के कोलेस्टाल के उत्पादन को कंट्रोल करता है. जीन की खोज के बाद लीवर में बनने वाले कोलेस्ट्रॉल को दवाओं से कंट्रोल करने में मदद मिलेगी. डाॅ. रोहित ने इस जीन को लेकर दावा किया है कि कोलेस्ट्रॉल के नियंत्रण से दिल की धमनियों में ब्लाॅकेज, दिल का दौरा और कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों के खतरे को कम किया जा सकता है.

घूस कांड में लखनऊ के होमगार्ड कमांडेंट कृपा शंकर पांडे को किया बर्खास्त

डाॅक्टर रोहित सिन्हा ने ऐसे जीन की खोज की है जो मरीजों के लिए काफी कारगर साबित होगा. हालांकि अभी इस जीन का ट्रायल नहीं हुआ है. ट्रायल के बाद पता चल जाएगा कि ये मरीजों के लिए कितनी कारगार है. डाॅ. रोहित सिन्हा ने कहा कि आहार और अन्य खानपान की चीजों के मुकाबले लीवर से बनने वाला कोलेस्ट्रॉल ज्यादा नुकसानदायक होता है. डाॅ. रोहित ने बताया कि शरीर में काॅलेस्टराॅल की मात्रा बढ़ने से लोग दिल और कैंसर जैसी बीमारियों के चपेट में आ जाते हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें