सीएम योगी का ओएसडी बनकर सीएम आवास पर किया फोन, गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: Fri, 6th Nov 2020, 12:35 PM IST
  • सीएम योगी आदित्यनाथ का फर्जी ओएसडी बनकर सीएम से बात करने के लिए उनके आवास पर फोन करने वाले ड्राइवर को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.
भारतीय सेना से संबंध रखने वाले संदीप रामनिवास गोरा को गुप्त सूचना भेजने के आरोप में गिरफ्तार

लखनऊ: सीएम योगी आदित्यनाथ का फर्जी ओएसडी बनकर सीएम से बात करने के लिए उनके आवास पर एक चालक ने फोन कर दिया. आवास पर तैनात कर्मचारियों को शक हुआ तो उन्होंने सीधे ओएसडी से बात की तो उन्होंने फोन करने से इनकार कर दिया. इस मामले में गौतमपल्ली थाने में रिपोर्ट दर्ज की गई. दो दिन पहले गौतमपल्ली पुलिस ने गुपचुप ढंग से आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

इंस्पेक्टर गौतमपल्ली चंद्रशेखर सिंह के मुताबिक एक नवंबर की रात करीब 8 बजे सीएम आवास के लैंडलाइन नंबर पर 9058506749 नंबर से कॉल की गई. फोनकर्ता ने अपना नाम सीएम का ओएसडी धर्मेंद्र बताया और सीएम से बात करवाने को कहा. सीएम आवास पर मौजूद कार्यालय प्रभारी को शक हुआ तो उन्होंने सीधे ओएसडी धर्मेंद्र को फोन किया. इस दौरान उन्होंने फोन करने से इनकार कर दिया. इस पर फौरन सूचना गौतमपल्ली पुलिस को दी गई. गौतमपल्ली थाने में तैनात दरोगा रामवीर सिंह की तरफ से मोबाइल नंबर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज करवाई गई.

लखनऊ पुलिस ने CAA के विरोध में हुई हिंसा के आरोपियों के चिपकवाए पोस्टर

सर्विलांस सेल ने छानबीन की तो पता चला कि फोन करने वाले का नाम रंजीत है. जो शिकोहाबाद का रहने वाला है. गौतमपल्ली पुलिस की एक टीम फौरन शिकोहाबाद गई और 3 नवंबर को पुलिस टीम ने आरोपित रंजीत को गिरफ्तार किया और फिर गुपचुप ढंग से उसे जेल भेज दिया. इंस्पेक्टर गौतमपल्ली का कहना है कि रंजीत पेशे से ड्राइवर है. उसने सीएम आवास पर ओएसडी बनकर फोन क्यों किया था, इस बारे में वह कोई सही जबाव नहीं दे सका.

लखनऊ सर्राफा बाजार में स्थिर रहा सोना, चांदी की कीमतें बढ़ी, सब्जी मंडी थोक रेट

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें