‘पीएम दिशा’ प्रोग्राम में यूपी की महिलाएं डिजिटल साक्षर होने में सबसे आगे, बिहार दूसरे स्थान पर

Anurag Gupta1, Last updated: Sat, 11th Dec 2021, 10:31 AM IST
  • पीएम दिशा में पुरूषों के मुकाबले महिलाएं आगे. ‘पीएम दिशा’ में यूपी की महिलाएं डिजिटल साक्षर होने में सबसे आगे. ग्रामीण लोगों को डिजिटल माध्यम की बारीकियां बताने, डिजिटल पेमेंट समझाने, साइबर सुरक्षा और डिजिटल कम्युनिकेशन के लिए 20 घंटे का प्रोग्राम तैयार किया गया है.
डिजिटल साक्षरता में यूपी की महिलाएं आगे (फाइल फोटो)

लखनऊ. केंद्र सरकार का प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान यानी पीएम दिशा में पुरूषों के मुकाबले महिलाएं बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रही हैं. इस अभियान में शामिल कुल 5.36 करोड़ लोगों में से 2.8 करोड़ महिलाओं ने हिस्सा लिया है. बता दें डिजीटल साक्षरता के मामले में यूपी और बिहार सबसे आगे हैं.

कॉमन सर्विस सेंटर ई-गवर्नेस सर्विस इंडिया लिमिटेड के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर ऋषिकेश पाटंकर ने ‘हिन्दुस्तान’ को बताया कि पीएम दिशा के तहत ग्रामीण लोगों को डिजिटल माध्यम की बारीकियां बताने, डिजिटल पेमेंट समझाने, साइबर सुरक्षा और डिजिटल कम्युनिकेशन से जुड़ी बातों से जुड़ा 20 घंटे का प्रोग्राम बनाया गया है. इसे 10 दिन से 30 दिन के बीच में पूरा किया जा सकता है. ट्रेनिंग लेने के बाद ऑनलाइन इम्तिहान के जरिए सर्टिफिकेट दिया जाता है.

Omicron: लखनऊ के जिस इलाके में कोरोना मरीज मिला, वहां बनेगा मिनी कंटेनमेंट जोन

सबसे ज्यादा रजिस्ट्रेशन यूपी में:

उत्तर प्रदेश में 1,40,04,199 रजिस्ट्रेशन हुए 122,81,000 लोगों का प्रशिक्षण हुआ और 92,36,198 लोगों ने सर्टिफिकेट प्राप्त किया.

बिहार में 57,13,248 रजिस्ट्रेशन हुए 50,05,225 लोगों का प्रशिक्षण हुआ और 36,52,652 लोगों ने सर्टिफिकेट प्राप्त किया.

हरियाणा में 17,18,241 रजिस्ट्रेशन हुए 14,54,522 लोगों का प्रशिक्षण हुआ और 10,95,505 लोगों ने सर्टिफिकेट प्राप्त किया.

झारखंड में 20,87,595 रजिस्ट्रेशन हुए 16,69,668 लोगों का प्रशिक्षण हुआ और 12,13,153 लोगों ने सर्टिफिकेट प्राप्त किया.

उत्तराखंड में 6,04,920 रजिस्ट्रेशन हुए 4,97,894 लोगों का प्रशिक्षण हुआ और 3,69,399 लोगों ने सर्टिफिकेट प्राप्त किया.

लोगों ने बताई उपलब्धि:

आयोध्या के पिकड़िया गांव की रानी यादव बताती है वो महज फोन से बात करना जानती थीं. फिर स्वयं सहायता समूह से बैंकिंग का काम करना सीखा. अब लोगों के पैसे निकालने व जमा करने का काम करती हूं. इससे उनकी कमाई भी बढ़ी है.

वहीं कानपुर के कल्याणपुर ब्लॉक में टिकरा की वर्षा कुशवाहा बताती है प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान के तहत दस दिन की ट्रेनिंग ली. अब दादानगर की एक फैक्ट्री में कंप्यूटर आपरेटर का काम कर रही हूं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें