लखनऊ में होने वाले DGP कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लेगें PM मोदी और गृहमंत्री अमित शाह

ABHINAV AZAD, Last updated: Fri, 19th Nov 2021, 10:27 AM IST
  • लखनऊ में होने वाले तीन दिवसीय डीजीपी कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह हिस्सा लेंगे. इस कॉन्फ्रेंस का आयोजन 19 नवंबर से 21 नवंबर तक लखनऊ के शहीद पथ स्थित पुलिस मुख्यालय सिग्नेचर बिल्डिंग में किया जाएगा.
डीजीपी कॉन्फ्रेंस में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 19 नवंबर को देर शाम लखनऊ पहुंचेगे.

लखनऊ. तीन दिवसीय डीजीपी कॉन्फ्रेंस का आयोजन 19 नवंबर से राजधानी लखनऊ में किया जाएगा. इस कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह हिस्सा लेंगे. लखनऊ में होने वाले डीजीपी कॉन्फ्रेंस में सभी राज्यों के पुलिस महानिदेशक, DGP समेत तमाम आलाधिकारी भाग लेंगे. वहीं इस आयोजन को लेकर लखनऊ पुलिस ने जरूरी दिशा-निर्देशों देने के साथ ही अपनी तैयारियों को अमली जामा पहनाना शुरू कर दिया है. ऐसा पहली बार होगा जब लखनऊ में डीजीपी कॉन्फ्रेंस का आयोजन हो रहा है.

लखनऊ के शहीद पथ स्थित पुलिस मुख्यालय सिग्नेचर बिल्डिंग में डीजीपी कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया जाएगा. गुरुवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस हाई लेवल की कॉन्फ्रेंस को लेकर पुलिस मुख्यालय का निरीक्षण भी किया. इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आलाधिकारियों को जरूरी दिशानिर्देश भी दिए. वहीं सिग्नेचर बिल्डिंग के आस-पास के ऊंचे अपार्टमेंट को 19 नवंबर से लेकर 21 नवंबर तक बालकनी में कपड़े न फैलाने के साथ ही अपार्टमेंट में नए व्यक्ति के रहने आने की सूचना को थाने पर अवगत कराने के लिए कहा है.

PM मोदी का बड़ा ऐलान- सरकार ने वापस लिए तीनों कृषि कानून, किसानों से घर लौटने की अपील

मिली जानकारी के मुताबिक, डीजीपी कॉन्फ्रेंस में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 19 नवंबर को देर शाम लखनऊ पहुंचेगे. प्रधानमंत्री मोदी 20 और 21 नवंबर को कार्यक्रम में शामिल होंगे. बताते चलें कि 3 दिनों तक चलने वाले इस कार्यक्रम के चलते पीएम मोदी 19 और 20 नवंबर को लखनऊ में रात्रि विश्राम करेंगे. जबकि 19 नवम्बर को देश के गृह मंत्री अमित शाह इस सम्मेलन का शुभारंभ करेंगे. 19 से 21 नवंबर तक आयोजित होने वाली इस कॉन्फ्रेंस में सभी राज्यों के पुलिस महानिदेशक समेत तमाम बड़े अधिकारी उपस्थित रहेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें