PM सौभाग्य योजना के लिए ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन, मिलेगा मुफ्त बिजली कनेक्शन

Swati Gautam, Last updated: Wed, 17th Nov 2021, 10:14 AM IST
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई सौभाग्य योजना के तहत लोगों को मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया जाएगा. जिसका मुख्य उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को इसका फायदा देना है. सौभाग्य योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदकों को नीचे दिए लिंक पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा.
PM सौभाग्य योजना के लिए ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन, मिलेगा मुफ्त बिजली कनेक्शन. file photo

लखनऊ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सौभाग्य योजना या प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना घरों को बिजली प्रदान करने के लिए सितंबर 2017 में शुरू की थी. जिसका मुख्य उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को इसका फायदा देना है. बता दें कि मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई सौभाग्य योजना का लाभ उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, ओडीसा, झारखंड, राजस्थान और बिहार के लोग ही उठा पाएंगे. इसके लिए आवेदकों को ऑनलाइन आवेदन करना होता है जिसके लिए ऑफिसियल वेबसाइट https://saubhagya.gov.in/ पर जाकर आवेदक को फॉर्म भरना होता है.

मोदी सरकार की सौभाग्य योजना का उद्देश्य मुफ्त बिजली कनेक्शन देने के साथ-साथ स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार, जनता की सुरक्षा और संचार के साधन को और बेहतर बनाना भी है. बता दें कि जिन लोगों का नाम इस जनगणना में नहीं है और वे इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं, वे 500 रुपये के मामूली शुल्क पर बिजली कनेक्शन प्राप्त कर सकते हैं. और यदि वे एक बार में 500 रुपये का भुगतान करने में असमर्थ हैं तो वे 10 आसान मासिक किश्तों में भी राशि का भुगतान भी कर सकते हैं.

योगी सरकार दिसंबर महीने से युवाओं को बांटेगी स्मार्टफोन और टेबलेट

आमतौर पर बिजली कनेक्शन के लिए गरीब लोगों को मुखिया और सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगाने पड़ते हैं. सरकार की मंशा है कि योजना के तहत लोगों को आसान तरीके से बिजली कनेक्शन मिल सके इसलिए भी यह योजना शुरू की गई थी. बता दें कि सौभाग्य योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करते समय कुछ डॉक्यूमेंट्स की आवश्यकता होगी जिनमें आधार कार्ड, वोटर आई कार्ड, मोबाइल नंबर, बैंक खाता, ड्राइविंग लाइसेंस आदि लगाने होंगे. ध्यान रहे कि यदि किसी के पास इनमें से कोई भी दस्तावेज नहीं है, तो वह इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए पात्र नहीं होगा

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें