उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान की ओर से कानपुर के दो कवियों को दिया जाएगा सम्मान

Smart News Team, Last updated: Sat, 27th Feb 2021, 12:07 AM IST
  • कवि कृष्णबिहारी त्रिपाठी को साहित्य भूषण सम्मान और कवि डॉ. सुरेश अवस्थी को श्रीनारायण चतुर्वेदी साहित्य सम्मान दिया जाएगा. इसके कानपुर के ही रामगोपल पांडेय रामचंद्र शुक्ल पुरस्कार दिया जाना है जो कि उनकी पुस्तक निगमागम सम्मत तुलसी चिंतन के लिए दिया जाना है.
कवि कृष्णबिहारी त्रिपाठी को साहित्य भूषण सम्मान और कवि डॉ. सुरेश अवस्थी को श्रीनारायण चतुर्वेदी साहित्य सम्मान दिया जाएगा.(फाइल फोटो)

कानपुर. कानपुर के दो कवियों को हिंदी संस्थान के प्रमुख सम्मान दिये जाएंगे. इसमें कवि कृष्णबिहारी त्रिपाठी को साहित्य भूषण सम्मान और कवि डॉ. सुरेश अवस्थी को श्रीनारायण चतुर्वेदी साहित्य सम्मान दिया जाएगा. इसके कानपुर के ही रामगोपल पांडेय रामचंद्र शुक्ल पुरस्कार दिया जाना है जो कि उनकी पुस्तक निगमागम सम्मत तुलसी चिंतन के लिए दिया जाना है. वहीं इन पुरस्कारों के साथ कानपुर के लोग भी गदगद हैं.

शुक्रवार को उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान ने कानपुर के कवियों और लेखकों के लिए पुरस्कारों की घोषणा की गई है. साथ सुरेश अवस्थी पुरस्कार के लिए चयनित होने पर कहा है कि पुरस्कार मिलने से कहा जा सकता है कि आपके काम को स्वीकृति मिल रही है. उनका कहना है कि अगर आपके काम को स्वीकार किया जाता है तो इससे एक कवि को काफी खुशी होती है. इससे हमें औक कार्य करने के लिए काफी उत्साह मिलेगा. 

अयोध्या एयरपोर्ट के लिए मोदी सरकार ने खोला खजाना, विकास में तेजी लाने को दिए 250 करोड़

सुरेश अवस्थी के सफर की बात करें तो उन्होंने हिन्दी साहित्य से पीएचडी है. इसके साथ ही वो पत्रकारिता से भी जुड़े हैं. व्यंग्य के माध्यम से उन्होंने लोगों के बीच अपनी अलग पहचान बनाई है वहीं अब तक वो देश विदेश के काफी सारे मंचों पर कविता पाठ कर चुके हैं. उनके कविता व गजल के संग्रह भी किया है. इसके अलावा वे कविता शैली को लेकर काफी लोकप्रिय हैं.

हिंदी संस्थान के वार्षिक पुरस्कार घोषित, लखनऊ के दयानंद पांडे को लोहिया साहित्य

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें