लखनऊ: रेमेडिसविर समेत कई दवाओं की कालाबाजारी के आरोप में डॉक्टर समेत 6 अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: 09/06/2021 04:46 PM IST
  • पुलिस ने 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपियों पर आरोप है कि कोविड-19 ड्रग रेमेडिसिवर समेत और कई दवाईयों का कालाबाजारी कर रहे थे. साथ ही गिरफ्तार आरोपी एम्फोटेरेसियन बी की भी ब्लैक मार्केटिंग को अंजाम दे रहे थे. एम्फोटेरेसियन बी का इस्तेमाल ब्लैक फंगस के इलाज में किया जाता है.
पुलिस ने दवाओं की कालाबाजारी के आरोप में डॉक्टर समेत 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

लखनऊ- कोरोना काल में इंजेक्शन और दवाईयों की ब्लैक मार्केटिंग जारी है. ताजा मामला उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का है. इंजेक्शन और दवाई की कालाबाज़ारी करने गिरोह को पुलिस ने लखनऊ के वजीरगंज में पकड़ा है. इस गिरोह के सदस्यों के साथ ही संचालन करने वाले डॉक्टर को भी गिरफ्तार कर लिया गया है.

मिली जानकारी के मुताबिक, इस गिरोह के पास से भारी मात्रा में इंजेक्शन समेत दवाएं बरामद की गई है. गिरफ्तार आरोपियों का नाम राकिब, आरिफ और इमरान है. जबकि इस गिरोह का संचालन कर रहे डॉक्टर राजेश कुमार डॉक्टर वामिक और बलवीर सिंह को भी गिरफ्तार कर लिया गया है.

UP विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को तगड़ा झटका, जितिन प्रसाद भाजपा में शामिल

मिली जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपियों पर आरोप है कि कोविड-19 ड्रग रेमेडिसिवर समेत और कई दवाईयों का कालाबाजारी कर रहे थे. साथ ही गिरफ्तार आरोपी एम्फोटेरेसियन बी की भी ब्लैक मार्केटिंग को अंजाम दे रहे थे. बता दें कि एम्फोटेरेसियन बी का इस्तेमाल ब्लैक फंगस के इलाज में किया जाता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें