लखनऊ में सपा दफ्तर के बाहर पुलिस का मास्क अभियान, दबादब कटे कार्यकर्ताओं के चालान

Indrajeet kumar, Last updated: Sat, 15th Jan 2022, 5:43 PM IST
  • लखनऊ में समाजवादी पार्टी के ऑफिस के बाहर बिना मास्क के इकट्ठे हुए कार्यकर्ताओं का पुलिस ने चालान काटा है. स्वामी प्रसाद मौर्या, धर्म सिंह सैनी समेत कई अन्य नेताओं ने समाजवादी पार्टी में शामिल होने के बाद हजारों की तादाद में कार्यकर्ता लखनऊ स्थित सपा कार्यालय पहुंच रहे हैं.
सपा दफ्तर के बाहर बिना मास्क के लोगों का चालान काट रही पुलिस

लखनऊ. लखनऊ में समाजवादी पार्टी के ऑफिस के बाहर बिना मास्क के आए लोगों का पुलिस ने चालान काटा है. सपा ऑफिस में बीजेपी के बागी मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या, धर्म सिंह सैनी समेत कई अन्य नेताओं ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. इस दौरान नेताओं ने अपनी शक्ति प्रदर्शन के लिए हजारों की भीड़ जुटाई. जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए बिना मास्क के भीड़ में शामिल लोगों का का चालान काटा. साथ ही चुनाव आयोग के निर्देश पर कार्यकर्ताओं पर महामारी एक्ट केतहत एफआईआर दर्ज की गई है. वहीं लखनऊ के गौतम पल्ली थाना में धारा 144 के उल्लंघन करने के आरोप में भी केस दर्ज किया गया है.

सपा ऑफिस के बाहर उमड़ी हजारों की भीड़

गौरतलब है कि शुक्रवार को लखनऊ स्थित समाजवादी पार्टी के कार्यालय में हजारों कार्यकर्ताओं की भीड़ उमड़ी. जिसके बाद पुलिस ने सख्ती दिखते हुए पार्टी के ढाई हजार कार्यकर्ताओं पर पार्टी के ढाई हजार कार्यकर्ताओं पर मामला दर्ज कर लिया. इन सभी कार्यकर्ताओं पर महामारी एक्ट समेत छह धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. इस दौरान भारी भीड़ इकट्ठे हो जाने से कोविड गाइडलाइन का भी उल्लंघन हो रहा था.

चंद्रशेखर रावण दो सीट पर मान गए थे, फोन आया और पीछे हट गए: अखिलेश यादव

बिना मास्क के ही सपा ऑफिस के सामने घूम रहे थे लोग

बीजेपी के बागी मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या, धर्म सिंह सैनी समेत की अन्य नेताओं की समाजवादी पार्टी में शामिल होने के दौरान सपा ऑफिस के सामने हजारों कार्यकर्ताओं की भीड़ इकट्ठा हुई. जिसमें कार्यकर्ता बिना मास्क के घूम रहे थे. इस दौरान कोरोना प्रोटोकाल का भी उल्लंघन किया जा रहा था. इस दौरान स्वामी प्रसाद मौर्य और अखिलेश यादव समेत की अन्य नेता मंच पर बिना मास्क के नजर आए. वहीं सपा कार्यालय के परिसर में भी कई लोग बिना मास्क के घूमते नजर आए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें