जीरो रिस्क और धांसू रिटर्न, पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में PM मोदी भी करते हैं निवेश

Atul Gupta, Last updated: Fri, 17th Dec 2021, 3:56 PM IST
  • पोस्ट ऑफिस (Post Office Scheme) की इस सेविंग स्कीम (National Savings Certificate) में निवेश पर जबर्रदस्त रिटर्न मिलता है. खुद पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) इस स्कीम ने निवेश कर चुके हैं.
पोस्ट ऑफिस की सेविंग स्कीम (फोटो- सोशल मीडिया)

Post Office Scheme अगर आप सुरक्षित निवेश और ज्यादा रिटर्न वाली किसी स्कीम की तलाश में हैं तो ये तलाश इस आर्टिकल पर आकर खत्म होती है क्योंकि हम आपको एक ऐसी स्कीम के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें ना सिर्फ गारेंटेड रिटर्न हैं बल्कि ये सुरक्षित निवेश भी है. इस स्कीम में खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी निवेश कर चुके हैं. आखिर ये कौन सी स्कीम है और क्यों इन दिनों तेजी से पॉपुलर हो रही है ये हम आपको इस आर्टिकल में बताएंगे.

इस स्कीम का नाम है नेशनल सर्टिफिकेट स्कीम (National Savings Certificate) जिसे NSC के नाम से भी जाना जाता है. इस स्कीम में निवेश पर रिस्क बिलकुल ना के बराबर है और इसमें रिटर्न भी बाकी उपलब्ध निवेश के विकल्पों से ज्यादा है. ये स्कीम पोस्ट ऑफिस की स्मॉल सेविंग का भी हिस्सा है लिहाजा आप छोटी रकम भी इस स्कीम में निवेश कर सकते हैं.

नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (National Savings Certificate) में निवेश करने पर पांच साल का मिनिमम लॉक-इन पीरियड होता है. मतलब पांच साल आप पैसा निकाल नहीं सकते. अगर आप निकालते हैं तो आपको भारी भरकम चार्ज देना होगा. NSC में तीन तरीके से निवेश करने का विकल्प मौजूद है.

सिंगल पाइप निवेश में आप अपने लिए या किसी नाबालिग के लिए निवेश कर सकते हैं. ज्वाइंट ए टाइप सर्टिफिकेट को दो लोग मिलकर एक साथ ले सकते हैं. ज्वाइंट बी टाइप- इस तरह के सर्टिफिकेट को दो लोग ले तो सकते हैं लेकिन मेच्योरिटी होने पर पैसा किसी एक निवेशक के ही खाते में जाएगा.

पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में आप 1000 रूपये से लेकर 100 के मल्टीपल में पैसा निवेश कर सकते हैं जिसपर आपको 6.8 पर्सेंट का ब्याज मिलता है. इस निवेश का एक फायदा ये भी है कि जो भी पैसा आप एनएससी में निवेश करते हैं उसपर आपको इनकम टैक्स की धारा 80 सी के तहत सालाना 1.5 लाख तक छूट मिलती है. पीएम नरेंद्र मोदी ने इस स्कीम में 08,43,124 रूपये निवेश किया है

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें