लखनऊ: अब बिजली कनेक्शन मिलेगा ‘झटपट’, पावर कॉरपोरेशन ने लांच किया मोबाइल ऐप

Smart News Team, Last updated: 15/10/2020 07:29 PM IST
  • विद्युत कनेक्शन के लिए इस ऐप को डाउनलोड करने के बाद इसमें नाम, पता, फोटो और आधार की जानकारी देनी होगी. इसके लिए 100 रूपये की प्रोसेसिंग फीस भी रखी गई है जो की ऑनलाइन ही जमा की जाएगी.
पावर कॉरपोरेशन ने बिजली कनेक्शन आसानी से प्रदान करने के लिए झटपट मोबाइल ऐप को लांच किया है.

लखनऊ. पावर कॉरपोरेशन ने उपभोक्ताओं के लिए बिजली कनेक्शन आसानी से दिलवाने के लिए 'झटपट' मोबाइल ऐप को लांच किया है. अब उपभोक्ताओं को बिजली कनेक्शन के लिए बार-बार विद्युत उपकेंद्र की के चक्कर नहीं लगाने होंगे. झटपट नाम की इस ऐप के माध्यम से सात दिन के भीतर बिजलीकर्मी मीटर लगाने के लिए आवेदक के घर पहुंचेंगे. इस ऐप को चलना बिल्कुल आसान होगा और इसे एंड्रायड मोबाइल में आसानी से डाउनलोड कर लिया जा सकता है.

झटपट मोबाइल ऐप को पावर कॉरपोरेशन ने लांच किया. विद्युत कनेक्शन के लिए इस ऐप को डाउनलोड करने के बाद इसमें नाम, पता, फोटो और आधार की जानकारी देनी होगी. इसके लिए 100 रूपये की प्रोसेसिंग फीस भी रखी गई है जो की ऑनलाइन ही जमा की जाएगी. ऑनलाइन आवेदन कि स्थिति कि जानकारी भी दी जाएगी. आवेदन से संबंधित अधिशासी अभियंता के पास आएगा जिसके बाद अधिशासी अभियंता उपखंड अधिकारी व अवर अभियंता को उसे अग्रसारित करेंगे.

लखनऊ की सड़को पर नहीं चलेगी 15 साल पुरानी गाड़ियां

इस ऐप को लेकर अधिकारियों से बात की गई और बताया किस हालात में आवेदक को इस ऐप के माध्यम से कनेक्शन नही मिल सकेगा. मध्यांचल निगम के एमडी सूर्यपाल गंगवार ने बताया कि आवेदन की अवर अभियंता स्तर से रिपोर्ट तैयार की जाएगी. अगर किसी आवेदक पर पुराना बकाया के चलते कनेक्शन काटा गया होगा या वह बिजली चोरी में पकड़ा गया होगा तो उसको कनेक्शन नहीं दिया जाएगा. अगर आवेदक ने किसी कारण से शमन शुल्क जमा नहीं किया होग या फिर किराए का भवन हो और किरायानामा न हो इन हालात में भी कनेक्शन नहीं दिया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें