सावधान! पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर खरीदा प्लॉट कहीं अवैध तो नहीं, डिटेल में जानें

Anurag Gupta1, Last updated: Mon, 20th Dec 2021, 10:44 AM IST
  • पूर्वांचल एक्सप्रेस वे शुरू होते ही बिल्डर किनारे बसाने लगे अवैध कॉलोनी. अभी तक बिल्डर किसान पथ के आस पास खड़ी कर रहे थे अवैध कॉलोनी. पूर्वांचल एक्सप्रेस वे चालू होते ही वहां पर गड़ा दी निगाहें.
पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के किनारे अवैध निर्माण करते बिल्डर (फोटो)

लखनऊ. पूर्वांचल एक्सप्रेस वे तैयार होते ही बिल्डरों ने आसपास अवेध कॉलोनी खड़ी करनी शुरू कर दी है. इसके पहले ये बिल्डर किसान पथ के किनारे अपना अवैध कारोबार चला रहे थे अब इनकी निगाहें पूर्वांचल एक्सप्रेस वे तक पहुंच गई है. पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के दोनों तरफ करीब 6000 एकड़ में अवैध टाउनशिप तैयार हो रही है. इसके किनारे भी अनियोजित विकास की ईंट रखी जा रही है और जिम्मेदार आंखे मूंदे हुए हैं.

अभी तक ये डीलर व बिल्डर किसान पथ, नई आउटर रिंग रोड के आसपास ही सीमित रहकर अवैध कॉलोनियों का निर्माण कर रहे थे. लेकिन पूर्वांचल एक्सप्रेस वे शुरू होते ही सबने अपना कारोबार यहां पर शुरू कर दिया है. प्रॉपर्टी डीलर व बिल्डरों ने एक साल के भीतर दोनों तरफ करीब 6000 एकड़ जमीन खरीद कर प्लॉटिंग शुरू कर चुके हैं. हिंदुस्तान के पत्रकार ने जब पड़ताल की तो अवैध प्लॉटिंग का मामला सामने आया.

यूपी चुनाव 2022: पीएम मोदी 9 जनवरी को लखनऊ में मेगा रैली को करेंगे संबोधित

सारे मानक किनारे करके कर रहे प्सॉटिंग:

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के आस पास प्रॉपट्री डीलर 500 से 1000 रूपए तक की प्लॉट बेच रहे हैं. जब कि यहां पर न तो सिवर है, न बिजली और न ही सड़क बनी है. यहां तक कि एलडीए से पास भी नहीं है. बता दें 300 से अधिक प्रॉपर्टी डीलर-बिल्डर प्लॉटिंग करा रहे हैं. एक पास भी एलडीए की टाउनशिप का लाइसेंस नहीं है. किसी का यूपी रेरा में पंजीकरण नहीं है.

जल्द ही टीम करेगी जांच:

लखनऊ विकास प्राधिकरण के सचिव पवन गंगवार ने बताया कि टीम भेजकर जांच कराएंगे. अवैध प्लॉटिंग रोकी जाएगी कार्रवाई भी होगी. जो नए निर्माण होंगे उन्हें ध्वस्त किया जाएगा और चल रहे काम को रोका जाएगा. जल्दी ही प्रवर्त टीम मौके पर जाएगी.

एलडीए-आवास विकास के लिए नहीं बचेगी जमीन:

अगर इस तरह निर्माण होता रहा तो आने वाले समय में एलडीए और आवास विकास के लिए जमीन नहीं बचेगी. हालांकि अभी बहुत जमीनें खाली है एलडीए और आवास विकास टाउनशिप बना सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें