अजीत सिंह हत्याकांड के मुख्य आरोपी के एनकाउंटर पर सवाल, जांच के आदेश

Smart News Team, Last updated: Mon, 15th Feb 2021, 11:42 PM IST
  • हत्याकांड मामले के मुख्य आरोपी शूटर गिरधारी विश्वकर्मा उर्फ कन्हैया उर्फ डाॅक्टर को सोमवार तड़के पुलिस मुठभेड़ में मार गिराया.
अजीत सिंह हत्याकांड के मुख्य आरोपी के एनकाउंटर पर सवाल, जांच के आदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अजीत सिंह हत्याकांड मामले के मुख्य आरोपी शूटर गिरधारी विश्वकर्मा उर्फ कन्हैया उर्फ डाॅक्टर को सोमवार तड़के पुलिस मुठभेड़ में मार गिराया गया. पुलिस के एक अधिकारी ने इस बारे में बताया. पुलिस आयुक्त डी के ठाकुर ने बताया कि मुठभेड़ में तीन पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं.

संयुक्त पुलिस आयुक्त अपराध नीलाब्जा चौधरी ने बताया, ‘‘रात ढाई से तीन बजे के बीच आरोपी गिरधारी विश्वकर्मा उर्फ डॉक्टर को पुलिस की टीम हत्या में इस्तेमाल हथियार की बरामदगी के लिए सहारा हॉस्पिटल के पीछे खरगापुर क्रॉसिंग के पास लेकर गयी. गाड़ी रोककर आरोपी को नीचे उतारा जा रहा था तभी उसने उप निरीक्षक अख्तर उस्मानी पर वार कर दिया और उनकी पिस्तौल लेकर भागने लगा. वरिष्ठ उप निरीक्षक अनिल सिंह ने उसका पीछा किया.’’

BSP सुप्रीमो मायावती ने कहा- पेट्रोल डीजल व बढ़ी महंगाई पर ध्यान दे केंद्र सरकार

उन्होंने बताया, ‘‘घटना की सूचना पुलिस नियंत्रण कक्ष और पुलिस आपातकालीन नंबर पर दी गई. सूचना मिलते ही पुलिस उपायुक्त पूर्वी और उनकी टीम मौके पर पहुंच गयी. पुलिस बल और प्रभारी निरीक्षक चंद्रशेखर सिंह एवं प्रभारी निरीक्षक अतिरिक्त ने झाड़ियों में छिपे गिरधारी को चारों तरफ से घेर लिया और उसे आत्मसमर्पण के लिए कहा. लेकिन गिरधारी छीनी हुई सरकारी पिस्तौल से बार-बार गोलियां चला रहा था. इसके जवाब में पुलिस ने भी गोलियां चलाईं, जिसमें वह घायल हो गया. उसे तुरंत राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.’’

सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बने ‘टाइगर’, देश भर से मदद के लिए आगे आए हजारों हाथ

मुठभेड़ में मारे गए अपराधी की जांच को लेकर सीजेएम सख्त

सीजेएम सुशील कुमारी ने अजीत सिंह हत्याकांड मामले में मुख्य आरोपी गिरधारी विश्वकर्मा उर्फ कन्हैया उर्फ डाॅक्टर की पुलिस कस्टडी रिमांड के दौरान मुठभेड़ में हुई मौत की पोस्टमार्टम कार्यवाही सीसीटीवी कैमरे व मेडिकल बोर्ड के माध्यम से कराने का निर्देश दिया है. उन्होंने विवेचक को यह भी आदेश दिया कि वो 16 जनवरी को अभियुक्त गिरधारी की न्यायिक हिरासत/पुलिस हिरासत के संबध में सही आख्या व कृत कार्यवाही का विवरण प्रस्तुत करें. उन्होंने इससे पहले गिरधारी के वकील की ओर से इस आशय की मांग वाली अर्जी पर आधा घंटे में आख्या तलब करते हुए पोस्टमार्टम कार्यवाही नहीं करने की सूचना संबधित थाने को देने का निर्देश दिया था.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें