हाइप्रोफाइल चोरों के गैंग का पर्दाफाश, राजधानी में चोरी करने प्लेन से जाते थे

Smart News Team, Last updated: 03/11/2020 11:38 PM IST
  • आरपीएफ ने लखनऊ पुलिस की मदद से दोनों शातिर चोरों को लखनऊ एयरपोर्ट से पकड़ लिया. कुछ दिनों पहले चोरों ने चलती ट्रेन से मुजफ्फरपुर के भाजपा सांसद की पत्नी का बैग चोरी कर लिया था.
राजधानी में चोरी करने वाले दो लोगों को लखनऊ पुलिस ने पकड़ा

जीआरपी और आरपीएफ ने ट्रेन में चोरी करने वाले एक हाईप्रोफाइल गैंग के दो बदमाशों को पकड़ा है ये चोर राजधानी और शताब्दी जैसी ट्रेनों में घटना को अंजाम दिया करते थे. इनके चोरी करने का तरीका बिल्कुल हाईप्रोफाइल था. वह पहले दिल्ली से फ्लाइट पकड़कर लखनऊ जाते थे. वहां से राजधानी या शताब्दी में सवार हो घटना को अंजाम देते थे. लेकिन पुलिस तब हरकत में आई जब मुजफ्फरपुर से भाजपा सांसद की पत्नी के 3 लाख रुपए से भरा बैग राजधानी से चोरी हो गया.

 

इस चोरी के बाद पुलिस ने सभी घटनाओं का मिलान किया गया तो एक संदिग्ध की पहचान हुई. जब उसका मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगाया गया तो पता चला के वह व्यकित लगातार लखनऊ से दिल्ली सफर कर रहा था. अगली चोरी के इरादे से जब यह लोग दिल्ली से लखनऊ पहुंचे तो पुलिस ने दोनो को पकड़ लिया. दोनो युवकों के पास से करीब दो लाख रुपये भी बरामद हुए है. बिहार के मुजफ्फरपुर से सांसद अजय निषाद पत्नी रमा के साथ 27 अक्टूबर को पटना राजधानी के एसी प्रथम श्रेणी के एचवन कोच से दिल्ली आ रही थी. रात में रमा टॉयलेट चली गईं और जब वापस लौटी तो पर्स गायब मिला. उसमें करीब तीन लाख रुपए थे. सांसद ने दिल्ली स्टेशन पर पहुंचकर मुकदमा दर्ज कराया. रेलवे के उच्चाधिकारियों से शिकायत की थी. एसपी रेलवे मनोज झा और वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त आरपीएफ मनोज कुमार सिंह ने संयुक्त रूप से जांच शुरू की। जांच में पता चला कि इसी ट्रेन में 18-19 अक्टूबर को भी रात ढाई से तीन बजे के बीच की चोरी की एक घटना पहले भी हुई थी.

 

लखनऊ के मोहनलालगंज में बीडीसी सदस्‍य की गोली मारकर हत्या, बदमाशों की स्कार्पियो

 

रेलवे ने दोनों दिन ट्रेन से यात्रा कर रहे लोगों की लिस्ट निकाली. जिसके बाद शक के आधार पर कुछ लोगों के नंवबर को सर्विलांस पर ले लिया गया. इस दौरान यह पता चल चुका था कि एक यात्री की लोकेशन सुबह दिल्ली में मिल रही है और दोपहर बाद लखनऊ में. संदिग्ध मोबाइल नंबर की लोकेशन चेक की गई तो सुबह दिल्ली और फिर सीधे एयरपोर्ट दिखी. पुलिस तुरंत सक्रिय हुई. दो नवंबर को यात्री ने राजधानी में चोरी की और फ्लाइट से लखनऊ लौट आया. एयरपोर्ट से निकलते ही पुलिस ने पार्किंग में उसे दबोच लिया. पकड़े गए आरोपी ने अपना नाम पुनीत कुमार, निवासी पुरैना जहानाबाद पीलीभीत बताया. पुनीत से पूछताछ के आधार पर पुलिस ने उसके साथी देवरिया के रामघर मलई निवासी प्रदीप यादव को दबोच लिया.

 

आरपीएफ को मिली बड़ी सफलता, मानव तस्करी 16 बच्चों को ले जा रहे तीन लोग गिरफ्तार

 

रेलवे कर्मचारियों की भूमिका संदिग्ध

एसपी जीआरपी मनोज झा ने बताया कि इस बात की जांच की जा रही है कि एसी थ्री का टिकट लेकर राजधानी में सवार होने वाला यात्री एसी प्रथम श्रेणी कोच में कैसे घुसा. जाहिर है रेलवे के ही किसी स्टाफ या कोच अटेंडेंट ने मदद की होगी. कोच कंडक्टर और अटेंडेंट ने यह चेक क्यों नहीं किया कि कोच में यात्रियों की संख्या कैसे अधिक हो रही है. एसी फर्स्ट कोच में बहुत ज्यादा यात्री नहीं होते हैं.

आगरा: यमुना एक्सप्रेस-वे से जाली नोटों की बड़ी खेप बरामद, तस्कर गिरफ्तार

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें