PM मोदी और CM योगी को UP में उतरने नहीं देंगे, होगा कमल का सफाया- राकेश टिकैत

Swati Gautam, Last updated: Thu, 18th Nov 2021, 9:19 AM IST
  • उत्तर प्रदेश में कुछ महीने बाद होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर किसान नेता राकेश टिकैत ने चेतावनी दे डाली और कहा कि लखनऊ में होने वाली पंचायत को सरकार ने रोकने की कोशिश की तो पीएम और सीएम को उत्तर प्रदेश में उतरने नहीं दिया जाएगा. कमल का फूल एक भूल है और इस बार इसका सफाया करना है.
PM मोदी और CM योगी को UP में उतरने नहीं देंगे, होगा कमल का सफाया- राकेश टिकैत. file photo

लखनऊ. किसान नेता राकेश टिकैत 22 नवंबर को लखनऊ में पंचायत करने वाले हैं. ऐसे में उन्‍होंने गढ़मुक्‍तेश्‍वर से एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चेतावनी दे डाली है. राकेश टिकैत ने कहा कि अगर 22 तारीख को लखनऊ में होने वाली पंचायत को सरकार ने रोकने की कोशिश की तो उत्तर प्रदेश में कुछ महीने बाद होने वाले विधानसभा चुनावों में पीएम और सीएम को यूपी में उतरने नहीं दिया जाएगा. साथ ही उन्होंने कहा कि कमल का फूल एक भूल है और इस बार इसका सफाया करना है.

वैसे तो राकेश टिकैत आए दिन पीएम मोदी और केंद्रीय सरकार पर बयानबाजी को लेकर चर्चा में रहते हैं लेकिन इस बार उन्होंने सरकार और पीएम सीएम को चेतावनी ही दे डाली. गढ़मुक्‍तेश्‍वर में लावलश्‍कर के साथ पहुंचे राकेश टिकैत ने वहां मौजूद किसानों को कहा कि इस बार कमल के फूल का सफाया करना है. उन्‍होंने लोगों से कहा कि भाइयों, सूबे से कमल की सफाई करनी है, कमर कस लो. साथ ही कहा कि लखनऊ की पंचायत को रोकने की कोशिश की गई तो प्रधानमंत्री और मुख्‍यमंत्री को उतरने नहीं दिया जाएगा.

उत्तराखंड CM धामी और UP CM योगी आज करेंगे मुलाकात, 21 साल पुराने मसले पर होगी वार्ता

मालूम हो कि कार्तिक मेले में पश्चिमी उत्तर प्रदेश से बड़ी संख्‍या में लोग पहुंचते हैं. यूपी के विधानसभा चुनाव नजदीक है, इसलिए राजनीतिक दलों की नजर भी इस मेले पर लगी हुई है. इस मेले के जरिए सभी राजनीतिक पार्टियां कम समय में ज्यादा से ज्यादा लोगों तक अपनी रणनीतियां और वादों को जनता तक पहुंचने की कोशिश कर रही हैं. यही कारण है कि मेला राजनीतिक दलों के पोस्‍टर बैनरों से अटा है. गढ़मुक्‍तेश्‍वर के कार्तिक मेले में भी आगामी विधानसभा चुनावों का असर साफ देखा जा सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें