Ramadan 2021: यूपी के प्रमुख 10 शहरों में 22 अप्रैल सेहरी खत्म का टाइम टेबल

Smart News Team, Last updated: Wed, 21st Apr 2021, 11:43 PM IST
  • रमजान का पाक महीना चल रहा है सभी मुसलमान रोजा रख रहें हैं. मुसलमान बड़ी शिद्दत से रोजा रख रहें हैं. 22 अप्रैल गुरुवार की सुबह लोग नौवें रोजे के लिए सेहरी खायेंगे.
Ramadan 2021: यूपी के प्रमुख 10 शहरों में 22 अप्रैल सेहरी खत्म का टाइम टेबल (फाइल फ़ोटो)

लखनऊ: रमजान का महीना अपने पूरे सबाब पर है. सभी मुसलमान जो रोजा रख सकते हैं रख रहें हैं. इसके साथ ही तरावीह का भी एहतमाम कर रहें हैं. 22 अप्रैल गुरुवार की सुबह लोग नौंवें रोजे के लिए सेहरी खायेंगे. रमजान उल मुकद्दस महीने की खास बात है कि अप्रैल की तपती गर्मी के बावजूद भी मुस्लिम समुदाय के लोग पूरी आस्था के साथ रोजा रख रहे हैं.

रमजान में सेहरी और इफ्तार का समय प्रतिदिन जगह-जगह के अनुसार बदलता है. इसलिए आज हम आपको बता रहे हैं लखनऊ, कानपुर, आगरा, मेरठ, वाराणसी, गाजियाबाद, इलाहाबाद,प्रयागराज, गोरखपुर, बरेली में गुरुवार 22 अप्रैल सेहरी टाइम टेबल. रमजान को बरकतों का महीना कहा गया है. इस पवित्र महीने में मुस्लिम लोग रोजा रखकर सच्चे दिल से अल्लाह की इबादत करते हैं. साथ ही पवित्र ग्रंथ कुरान की तिलावत करते हैं. वहीं रमजान के दौरान दान का भी इस महीने काफी विशेष महत्व माना गया है.

TGT-PGT के लिए अप्लाई करने की डेट आगे बढ़ी, मई तक कर सकेंगे आवेदन

Ramadan 2021: 22 April sehri Timing

लखनऊ में खत्म सहरी 22 अप्रैल गुरुवार सुबह 4 बजकर 14 मिनट,

कानपुर में खत्म सहरी 22 अप्रैल गुरुवार सुबह 4 बजकर 17 मिनट,

आगरा में खत्म सहरी 22 अप्रैल गुरुवार सुबह 4 बजकर 25 मिनट,

मेरठ में खत्म सहरी 22 अप्रैल गुरुवार सुबह 4 बजकर 22 मिनट,

वाराणसी में खत्म सहरी 22 अप्रैल गुरुवार सुबह 4 बजकर 09 मिनट,

गाजियाबाद में खत्म सहरी 22 अप्रैल गुरुवार सुबह 4 बजकर 24 मिनट,

CM योगी बोले- जीवनरक्षक दवाओं की कालाबाजारी करने वालों पर लगे रासुका

मुरादाबाद में खत्म सहरी 22 अप्रैल गुरुवार सुबह 4 बजकर 18 मिनट,

इलाहाबाद में खत्म सहरी 22 अप्रैल गुरुवार सुबह 4 बजकर 13 मिनट,

गोरखपुर में खत्म सहरी 22 अप्रैल गुरुवार सुबह 4 बजकर 04 मिनट,

बरेली में खत्म सहरी 22 अप्रैल गुरुवार सुबह 4 बजकर 17 मिनट,

नोएडा में खत्म सहरी 22 अप्रैल गुरुवार सुबह 4 बजकर 24 मिनट,

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें