अगर एक रुपए का सिक्का लेने से दुकानदार करे इनकार तो खैर नहीं, यहां करें शिकायत

Smart News Team, Last updated: Thu, 1st Apr 2021, 7:47 PM IST
  • आजकल कई जगहों पर दुकानदार एक रुपए का सिक्का लेने से साफ इनकार कर देते हैं. उनका कहना होता है कि यह कॉइन चलन से बाहर है लेकिन क्या सच में ऐसा है, जानिए क्या कहती हैं रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की गाइडलाइंस. कैसे की जा सकती है इसके खिलाफ शिकायत.
लखनऊ में कई दुकानदार चलन में होने के बावजूद 1 रुपए के सिक्के नहीं ले रहे हैं. फोटो क्रेडिट: यूट्यूब.

लखनऊ. अगर कोई दुकानदार एक रुपए के सिक्के को लेने से मना करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी. दरअसल, रिजर्व बैंक के नियमों के बावजूद लखनऊ के अमीनाबाद, चौक और गोमतीनगर समेत कई जगहों दुकानदार 1 रुपए के सिक्के नहीं ले रहे हैं. जिससे ग्राहको को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

इस बारे में लीड बैंक प्रबंधक वीवी मिश्रा ने कहा कि अगर कोई व्यक्ति किसी भी सिक्के को लेने से मना करता है तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जा सकती है. उन्होंने कहा कि उसके खिलाफ भारतीय मुद्रा अधिनियम और आईपीसी की धाराओं के तहत कार्रवाई होगी. मामले की शिकायत रिजर्व बैंक में भी की जा सकती है. आरबीआई को issue lucknow@rbi.org.in पर मेल भी कर सकते हैं.

खर्चीली शादी नहीं मस्जिद में निकाह करें मुसलमान, दहेज का हो बहिष्कार: बोर्ड

मिली जानकारी के मुताबिक, किसी भी करेंसी को चलन में रखने या फिर चलन से बाहर करने का एकाधिकार रिजर्व बैंक के पास है. इसीलिए किसी भी करेंसी को लेने से मना करना कानूनी अपराध की श्रेणी में आता है. इसके बावजूद प्रदेश की राजधानी में कई दुकानदार धड़ल्ले से एक रुपए के सिक्के को लेने से मना कर रहे हैं.

लखनऊ DM का बड़ा एक्शन, कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने पर फन मॉल किया सील

इस बारे में गोमतीनगर जनकल्याण महासमिति के सचिव रूप कुमार शर्मा ने कहा कि विनयखंड, विवेकखंड और विशालखंड समेत कई क्षेत्रों में अधिकांश दुकानदार एक रुपए का सिक्का लेने से मना कर देते हैं. वहीं लखनऊ व्यापार मंडल के वरिष्ठ महामंत्री अमरनाथ मिश्र ने कहा कि एक रुपए के सिक्कों को लेने से मना करना अपराध है. दुकानदारों और छोटे व्यापारियों को आरबीआई की गाइडलाइन का पालन करना चाहिए.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें