7 दिसंबर से होगी रियल टाइम बिलिंग की व्यवस्था, बिल बनते ही जमा करा सकेंगे भुगतान

Smart News Team, Last updated: 03/12/2020 11:26 AM IST
  • लखनऊ के 2 लाख 78 हजार बिजली उपभोक्ताओं को बिल बनते ही जमा करने की सुविधा मिलेगी. इस व्यवस्था के बाद से उपभोक्ता बिल बनते ही उसका भुगतान कर सकेंगे. इससे पहले ये सुविधा उपभोक्ताओं के पास नहीं होती थी. विभाग का मानना है कि इससे बिल जमा करने से वाले उपभोक्ताओं की संख्या में इजाफा होगा.
बिजली बिल भरने में सुविधा के लिए सात विद्युत खंडों में रीयल टाइम बिलिंग की व्यवस्था लागू की जाएगी. (फाइल फोटो)

लखनऊ. सात दिसंबर से लेसा के सात विद्युत खंडों में रीयल टाइम बिलिंग की व्यवस्था लागू की जाएगी. इससे लखनऊ के 2 लाख 78 हजार बिजली उपभोक्ताओं को बिल बनते ही जमा करने की सुविधा मिलेगी. इस व्यवस्था के बाद से उपभोक्ता बिल बनते ही उसका भुगतान कर सकेंगे. इससे पहले ये सुविधा उपभोक्ताओं के पास नहीं होती थी. विभाग का मानना है कि ऐसी व्यवस्था शुरू होने से बिल जमा करने से वाले उपभोक्ताओं की संख्या में इजाफा होगा.  

पावर कॉरपोरेशन के एमडी एम. देवराज ने बताया कि रीयल टाइम बिलिंग टाउनहाल खंड में शुरु की जाएगी.  अगामी पांच दिसंबर से विभाग इसकी शुरुआत करने जा रहा है. साथ ही सभी मीटर रीडरों के मोबाइल में स्मार्ट बिलिंग एप अपलोड करा दिया गया है. इससे पहले लेसा ने राजभवन डिवीजन में जुलाई में रीयल टाइम बिलिंग की शुरुआत की थी. अधिकारियों ने भी इस पर कहा है कि नई व्यवस्था शुरू होने के बाद बिल जमा करने की संख्या बढ़ी

अखिलेश यादव ने CM योगी पर कसा तंज, बोले- अभिनय और भ्रमण छोड़िए प्रदेश संभालिए

अब चल रही व्यवस्था में बिजली बिल बनने के बाद मीटर रीडर एक या दो दिन बाद मीटर रीडिंग डाटा ट्रांसफर करते हैं. ऐसे में कोई उपभोक्ता चाहकर भी बिल बनते ही रुपये नहीं जमा कर पाते हैं. मीटर रीडर ने त्रुटि के कारण ज्यादा बिल बना दिया तो उपभोक्ता बिल भरने के लिए तत्काल संबंधित उपकेंद्र पहुंच जाते हैं. इस पर उपभोक्ता के खुद मीटर रीडिंग के आधार पर बिल बनवाकर जमा कर देते है जिसके कारण मीटर रीडर का डाटा फीड नहीं हो पाता.लेसा के सात डिवीजन में शुरू होगी व्यवस्था जिसमें ऐशबाग 21740, रेजीडेंसी 29013, गोमतीनगर 41311, चिनहट 69998, सीतापुर रोड 42925, मुंशीपुलिया 35744, डालीगंज 37294 उपभोक्ता हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें