RLD अध्यक्ष जंयत चौधरी ने कांग्रेस के साथ गठबंधन से किया इनकार, यूपी चुनाव में अखिलेश के साथ

Shubham Bajpai, Last updated: Mon, 8th Nov 2021, 3:54 PM IST
  • रालोद प्रमुख जयंत चौधरी ने कांग्रेस के साथ आगामी विधानसभा चुनाव में गठबंधन की बात से इंकार कर दिया है. उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से गठबंधन को लेकर कोई बात नहीं चल रही है और न हम गठबंधन कर रहे हैं. हमारी पार्टी की समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन को लेकर बातचीत अंतिम दौर पर है.
जयंत चौधरी ने Congress के साथ गठबंधन से किया इंकार, कहा SP से अंतिम चरण में बातचीत

लखनऊ. यूपी विधानसभा चुनाव 2022 से राष्ट्रीय लोक दल का कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर कई कयास लगाए जा रहे थे. जिस पर शामली में आयोजित एक पत्रकारवार्ता में बात करते हुए रालोद प्रमुख जयंत चौधरी ने विराम लगा दिया. जयंत ने कांग्रेस से गठबंधन की बात को नकारते हुए सपा के साथ गठबंधन को लेकर बातचीत होने की बात स्वीकारी.

सपा से गठबंधन को लेकर अंतिम चरण में है बात

रालोद प्रमुख जयंत चौधरी ने कहा कि यूपी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर कोई बातचीत नहीं है. हालांकि हमारी पार्टी समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन को लेकर बातचीत कर रही है और वो अपने अंतिम चरण में है.

Padma Award 2021: 119 विभूतियां को मिलेंगे पद्म पुरस्कार, यूपी में दो को पद्म भूषण, 7 को पद्म श्री सम्मान

हमारी पार्टी सत्ता में आई तो 1 करोड़ युवाओं को रोजगार

जयंती चौधरी ने इस दौरान चुनाव को लेकर कहा कि यदि उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो वह घोषणापत्र में युवाओं को 1 करोड़ नौकरी का उपहार देंगे. साथ ही गन्ने के लिए राज्य सलाहकार मूल्य निर्धारण और 14 दिन के अंदर भुगतान सुनिश्चित करेंगे.

CM योगी के आदेश, फ्री टैबलेट और स्मार्टफोन देने वाले छात्रों की बने लिस्ट, जानें कब होंगे रजिस्ट्रेशन

पूंजीपतियों का भला सोचनने वाली है सरकार

जयंत चौधरी ने भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए इसे पूंजीपतियों की सरकार बताया. जयंत ने कहा कि जनता ने 2022 में भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने का मन बना लिया है. इस सरकार ने कभी किसी गरीब या किसान का भला नहीं किया है. यह पूंजीपतियों का भला सोचने वाली सरकार है. सरकार अब बिजली बिल 2003 में बदलाव करने जा रही है. जिसके बाद आने वाले समय में अडानी और अंबानी किसानों की बिजली के रेट तय करेंगे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें