कोरोना वैक्सीन से नहीं टूटेगा मुसलमानों का रोजा, लगवा सकते हैं टीका: फतवा

Smart News Team, Last updated: Tue, 13th Apr 2021, 9:21 PM IST
  • यूपी की राजधानी लखनऊ में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच दारूल इफ्ता फरंगी महल ने एक फतवा जारी किया है. फतवे में कहा गया है कि कोरोना की वैक्सीन लगवाने से रोजा नहीं टूटता है. रमजान के महीने में वैक्सीन ली जा सकती है.
दारूल इफ्ता फरंगी महल ने रोजा में कोरोना वैक्सीन को लेकर फतवा जारी किया है. प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ. यूपी की राजधानी लखनऊ में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है. इसी बीच मुस्लिम समाज पवित्र रोजा शुरू हो गए हैं. रोजा रखने वाले वैक्सीन ले सकते हैं या नहीं, इस पर पर दारूल इफ्ता फरंगी महल ने एक फतवा जारी किया है. इस फतवे में कहा गया है कि कोरोना की वैक्सीन लगवाने से रोजा नहीं टूटता है. 

दारूल इफ्ता फरंगी महल की ओर से जारी फतवे में कहा गया है कि रमजान के महीने में रोजे की हालत में वैक्सीन ली जा सकती है. इसमें वैक्सीन को इंजेक्शन माना गया है और इंजेक्शन लगवाने से रोजा नहीं टूटता है. इससे पहले यूपी के सीएमओ ऑफिस में कुछ अधिकारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. जिसके बाद उन्होंने खुद को आइसोलेट कर लिया है. इसकी जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट करके दी है.

UP मुख्यमंत्री ऑफिस के कुछ अधिकारी कोरोना संक्रमित, CM योगी हुए आइसोलेट

यूपी की राजधानी लखनऊ में कोरोना बेकाबू होता जा रहा है. इसी बीच डीएम डॉ. अभिषेक प्रकाश ने मंगलवार को डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों को आदेश जारी किया है. इस आदेश के अनुसार, शहर के सभी कोविड प्राइवेट और सरकारी अस्पताल के स्वास्थ्यकर्मियों को अपनी नौकरी छोड़ने और छुट्टी लेने पहले परमिशन लेनी होगी. इस आदेश को तोड़ने पर सख्त कार्रवाई होगी.

लखनऊ DM का आदेश- छुट्टी लेने के लिए स्वास्थकर्मियों को लेनी होगी परमिशन

आपको बता दें कि यूपी की राजधानी लखनऊ में बीते 24 घंटे में कोरोना के साढ़े 4 हजार नए केस सामने आए हैं और 21 लोगों की कोविड से मौत हो गई है. वहीं उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 13 हजार 604 नए मामले सामने आए हैं और 72 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें