लखनऊ में आरपीएफ दरोगा की हत्या, खून से लथपथ शव के पास सर्विस रिवॉल्वर भी बरामद

Smart News Team, Last updated: 09/12/2020 06:31 PM IST
  • रेलवे यार्ड के समीप मिला आरपीएफ के दरोगा का शव, चारबाग में थी तैनाती, ड्यूटी नहीं पहुचनें पर अधिकारीयों फोन कर संपर्क साधने की कोशिश की लेकीन नहीं मिला सुराग, फिर विभाग लोकेशन ट्रेस करके पुलिस की मदद से घटना स्थल पे पहुंचा, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.
लखनऊ में आरपीएफ दरोगा की हत्या, खून से लथपथ शव के पास सर्विस रिवॉल्वर भी बरामद

लखनऊ: लखनऊ पुलिस और आरपीएफ तब सकते में आ गई जब, राजधानी लखनऊ में मवैया से मानकनगर स्टेशन के बीच बने रेलवे के यार्ड के पास आरपीएफ के दारोगा पूरन सिंह नेगी की गोली मारकर हत्या कर दी गई. बुधवार सुबह झाड़ियों के बीच उनका खून से लथपथ शव मिला. गोली बायीं ओर सीने पर लगी थी जिससे उनकी मौत मौक पर ही हो गई थी. पुलिस ने मौके से सर्विस पिस्टल, नौ कारतूस और पर्स बरामद की है. सोमवार को शाम सात बजे से रात 10 बजे की ड्यूटी करने के लिए गए थे. उसके बाद मंगलवार सुबह 10 बजे से उनकी फिर ड्यूटी थी. ड्यूटी पर न पहुंचने पर विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों ने उनके फोन किया तो रिंग जा रही थी पर फोन रिसीव नहीं हुआ.

विभागीय अधिकारी और कर्मचारी लगातार फोन करते रहें पर कुछ पता न चल सका. इसके बाद विभाग ने ही उच्चाधिकारियों को सूचना दी. आरपीएफ के कर्मचारियों ने ही सर्विलांस की मदद से लोकेशन ट्रेस की. इसके बाद पुलिस को सूचना दी. लोकेशन के आधार पर ट्रेस करके पुलिस यार्ड के पास पहुंची तो वहां झाड़ियों में खून से लथपथ शव पड़ा था. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. वह मूल रूप से उत्तराखंड के रहने वाले थे. परिवार दिल्ली बदरपुर में रह रहा था.

लखनऊ: भारत बंद के समर्थन में दुकानें बंद कराने पर दरोगा निलंबित

इंस्पेक्टर आलमबाग के अनुसार पूरन यहाँ आलमबाग के सरदारी खेड़ा में किराए के मकान में रहते थे. पत्नी और दो बच्चे दिल्ली में रहते हैं. चारबाग में उनकी तैनाती थी. पुलिस मामले की छानबीन में लग गई है, सीसीटीवी फुटेज के आधार पर सबूत जुटाने की कोशिश कर रही है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मामले में पुलिस अच्छे से जांच कर पाएगी.

लखनऊ फुटबॉल लीग: ब्रायन इलेवन, यूनिटी और किंग्सटन की टीम ने जीते मैच

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें