लखनऊ: सेंट जोसेफ इंटर कॉलेज में गुंडई, MD ने छात्र-छात्राओं को पीटा, हंंगामा

Smart News Team, Last updated: Sat, 27th Mar 2021, 9:20 PM IST
  • छात्रों का आरोप है की कालेज के डायरेक्टर व अन्य स्टाफ ने यहां के 12वीं के छात्रों की पिटाई कर दी. इसको लेकर काफी हंगामा हुआ.
लखनऊ: सेंट जोसेफ इंटर कॉलेज में गुंडई, MD ने छात्र-छात्राओं को पीटा, हंंगामा (फ़ोटो साभार कॉलेज वेबसाइट)

लखनऊ: सीतापुर रोड स्थित सेंट जोसेफ इंटर कालेज के छात्रों को कॉलेज के आखरी दिन फारवेल पार्टी और स्क्राइबल डे मनाना काफी भारी पड़ गया. छात्रों का आरोप है की कालेज के डायरेक्टर व अन्य स्टाफ ने यहां के 12 वीं के छात्रों की पिटाई कर दी. इसको लेकर काफी हंगामा हुआ. सैकड़ों बच्चों के अभिभावक स्कूल के बाहर जुट गये. हंगामा व प्रदर्शन करने लगे. पीड़ित छात्रों के अभिभावकों का आरोप था कि स्कूल के डायरेक्टर ने खुद कई बच्चों को बुरी तरीके से पीटा. कई छात्राओं को भी थप्पड़ मारे. उधर स्कूल प्रशासन का कहना है कि अनुशासन हीनता के चलते छात्रों के साथ थोड़ी सख्ती बरती गयी है.

सीतापुर रोड स्थित सेन्ट जोसेफ इण्टर कालेज के 12 वीं के छात्रों का शुक्रवार को स्कूल का आखिरी दिन था. इसी दिन छात्रों ने स्कूल के पास के ही एक पार्क में अपने तरफ से पार्टी की थी. इसमें 12 वीं के काफी छात्र छात्राएं शामिल हुए थे. कॉलेज प्रशासन का कहना है की यहां छात्र छात्राओं ने अनुशासन की सारी सीमाएं तोड़ दीं. यही नहीं उन्होंने अपने स्कूल की ड्रेस पर काफी गंदी-गंदी बातें लिखीं. आपत्ति जनक चित्र बनाए. इसकी जानकारी के बाद शनिवार को स्कूल प्रशासन ने बच्चों को कालेज बुलाया था. जिसमें उनसे ऐसा करने की वजह पूछी गई.

लखनऊ: अल्पसंख्यक कल्याण के अधिकारी हरि प्रसाद अंबेडकर सस्पेंड, निदेशक से बदतमीजी का आरोप

अभिभावकों को कहना है कि बच्चों को अन्दर बंद कर उनके साथ मारपीट की गई है. कई अभिभावकों ने बताया कि खुद कॉलेज निदेशक ने छात्राओं को भी थप्पड़ जड़े. मारपीट की जानकारी के बाद बच्चों के अभिभावक स्कूल के बाहर जुट गये और हंगामा करने लगे.

लखनऊ में बढ़ा कोराना का संक्रमण, RDSO कॉलोनी में 35 लोग आए चपेट में, इलाका सील

कई छात्रों के मोबाइल फोन जब्त करने का मामला

शनिवार को विद्यालय पहुंचे कई बच्चों के मोबाइल फोन भी जब्त कर लिए गए. स्कूल के डायरेकटर अनिल अग्रवाल ने कहा कि चार बच्चों के मोबाइल फोन जमा कराया गया है. मोबाइल में काफी आपत्ति जनक चैट हैं. जिसके बारे में उनके अभिभावकों को बताया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें