अखिलेश यादव का हमला- CM योगी की नीतियों ने यूपी में बढ़ाया कोरोना

Smart News Team, Last updated: 07/04/2021 11:49 PM IST
  • सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना पर नियंत्रण की पारदर्शी समुचित व्यवस्था के बजाय भाजपा के स्टार प्रचारक बने अन्य राज्यों में भाषण देते घूम रहे हैं, और चुनावी प्रचार कर रहें हैं
अखिलेश यादव का हमला- CM योगी की नीतियों ने यूपी में बढ़ाया कोरोना (फाइल फ़ोटो)

लखनऊ: सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने बुधवार को मिडिया से बात करते हुए कहा है कि उत्तर प्रदेश में कोरोना संकट भयावह होता जा रहा है. योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में भाजपा की लापरवाह सरकार के चलते कोरोना का संक्रमण थमने की उम्मीद नहीं दिख रही है. उन्होंने कहा कि संक्रमित लोगों की संख्या और मौतों में रोजाना वृद्धि हो रही है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कोरोना पर नियंत्रण की पारदर्शी समुचित व्यवस्था के बजाय भाजपा के स्टार प्रचारक बने अन्य राज्यों में भाषण देते घूम रहे हैं, और चुनावी प्रचार कर रहें हैं.

 बेपरवाह भाजपाई सरकार कोरोना पर नियंत्रण के झूठे दावे के साथ बस अपनी वाहवाही लूटने में लगी है. नतीजा सामने है कोरोना की दूसरी लहर के कहर से हर तरफ हाहाकार मचा हुआ है.

KGMU में वैक्सीन के दोनों डोज लेने के बाद भी VC समेत 40 डॉक्टर पॉजिटिव

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरीके से बदहाल हैं. कोरोना जांच के नाम पर महज खानापूर्ति हो रही है. समय से जांच परिणाम न मिलने से गंभीर रोगियों को भी अस्पतालों में इलाज नहीं मिल रहा है. कितने ही लोग इलाज के अभाव में दम तोड़ चुके हैं. अस्पतालों में न बेड हैं, न पर्याप्त मेडिकल और पैरामेडिकल स्टाफ है. पूरे अस्पतालों में अव्यवस्था फैली है.

UP में जल्द होगी 10000 होमगार्ड की भर्ती, पंचायत चुनाव के बाद लिए जाएंगे आवेदन

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार में जो स्वास्थ्य सुविधाएं शुरू की गई थी भाजपा ने उन्हें ध्वस्त कर दिया और अब लोगों को मरने के लिए छोड़ दिया है. हर तरफ बस अव्यवस्था और अराजकता का राज है. पूरा एक साल ऐसा बीता है जिसमें जीवन की सभी गतिविधियां लगभग ठप्प रही है. शिक्षण संस्थानों में अभी भी पढ़ाई नियमित रूप से शुरू नहीं हो पाई है.ऑनलाइन पढ़ाई दिखावे की चीज रही है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें