योगी सरकार ने बिना चुनाव कराए ग्राम पंचायतें भंग कर दी, ऐसी सरकार यूपी क्या चलाएगी: अखिलेश

Smart News Team, Last updated: Sun, 27th Dec 2020, 1:47 PM IST
  • सपा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यूपी में भाजपा सरकार ने बिना नए चुनाव कराए ग्राम पंचायतें भंग कर दी हैं. भाजपा लोकतंत्र की बुनियाद पर चोट न करे. 
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव

लखनऊ. सपा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यूपी की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है. यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने यूपी की योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा लोकतंत्र की बुनियाद पर चोट न करे.

यूपी में 25 दिसंबर को 59,163 ग्राम पंचायतों के भंग होने पर सपा चीफ अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर तीखा हमला किया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि उप्र में भाजपा सरकार ने बिना नये चुनाव कराये ‘ग्राम पंचायतें’ भंग कर दी हैं. बड़े-बड़े चुनाव तो हो रहे हैं लेकिन लोकतंत्र में जन प्रतिनिधित्व की सबसे छोटी इकाई के चुनावों के लिए सरकार अपने को अक्षम बता रही है, ऐसी सरकार उप्र क्या चलाएगी. भाजपा लोकतंत्र की बुनियाद पर चोट न करे.

यूपी: ग्राम प्रधानों का कार्यकाल आज से समाप्त, खातों में पड़े रह गए 6 हजार करोड़

बता दें कि यूपी के कुल 59,163 ग्राम पंचायतों के मौजूदा ग्राम प्रधानों का कार्यकाल 25 दिसंबर को पूरा हो गया था. कार्यकाल पूरा होने के बाद प्रदेश सरकार ने ग्राम पंचायतों को भंग कर प्रधानों के वित्तीय अधिकारों पर रोक लगा दिया था. ग्राम प्रधानों की जगह पर गावों में सहायक विकास अधिकारी (एडीओ) को बतौर प्रशासक नियुक्त किया गया है, ताकि में गांवों में चल रहे विकास कार्यों में कोई बाधा न आए.

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले पंचायत चुनाव का महामुकाबला, ग्रामीण राजनीति का अखाड़ा

3 जनवरी 2021 को जिला पंचायत अध्यक्ष का कार्यकाल पूरा हो जाएगा. जबकि, 17 मार्च को क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष का पूरा होगा. माना जा रहा है कि इस बार ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य और जिला पंचायत सदस्य के चुनाव एक साथ आयोजित होंगे. इससे समय की बचत होगी. पंचायत चुनाव 2015 में ग्राम प्रधान और ग्राम पंचायत सदस्य का चुनाव एक साथ हुए थे. जबकि, क्षेत्र पंचायत सदस्य और जिला पंचायत सदस्य के चुनाव अलग-अलग करवाए गए थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें