झारखंड के बाद यूपी विधानसभा में नमाज के लिए प्रेयर रूम की मांग, SP विधायक इरफान सोलंकी ने लिखी चिठ्ठी

Ankul Kaushik, Last updated: Tue, 7th Sep 2021, 12:57 PM IST
  • झारखंड के बाद अब यूपी विधनसभा में भी नमाज के लिए प्रेयर रूम की मांग उठी. सपा विधायक इरफान सोलंकी ने यूपी विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित को एक चिठ्ठी लिखी है. इस चिठ्ठी में सपा विधायक ने यूपी विधानसभा में नमाज पढ़ने के लिए कमरे की मांग की है.
सपा विधायक इरफान सोलंकी की मांग यूपी विधानसभा में हो नमाज के लिए अलग कमरा, फोटो क्रेडिट (इरफान सोलंकी ट्विटर)

लखनऊ. झारखंड सरकार द्वारा विधानसभा में नमाज अदा करने के लिए अलग से कमरा आवंटित करने के बाद यूपी में भी इसकी मांग उठ गई है. विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित को समाजवादी पार्टी के विधायक इरफान सोलंकी ने एक चिठ्ठी लिखी है. इस चिठ्ठी में सपा विधायक ने विधानसभा अध्यक्ष से विधानसभा में नमाज अदा करने के लिए एक कमरा आवंटित करने की खास मांग की है. सपा विधायक ने चिठ्ठी में लिखा कि मुस्लिम विधायकों को विधानसभा की कार्यवाही के दौरान नमाज अदा के लिए मस्जिद जाना पड़ता है जिसकी वजह से विधायक कार्यवाही में शामिल नहीं हो पाते हैं. अगर यूपी विधानसभा में मुस्लिम विधायकों को अंदर ही एक कमरा नमाज के लिए मिल जाए तो इससे मुस्लिम विधायकों की परेशानी दूर हो जाएगी.

इसके साथ ही सपा विधायक ने इस चिठ्ठी में आगे लिखा कि इबादत भी जरूरी है और विधानसभा सत्र भी जरूरी है. विधानसभा में प्रार्थना के लिए बने जगह बननी चाहिए. अगर हो सके तो विधानसभा अध्यक्ष एक छोटा सा कमरा इबादत के लिए बनवा दें इससे किसी को परेशानी नहीं होगी. क्योंकि नमाज, आस्था का विषय है लिहाजा उसे नहीं छोड़ा जा सकता है. वहीं सपा विधायक ने कहा कि वह इस मांग के जरिए सियासत नहीं कर रहे हैं इसलिए उनके बयान को सियासी चश्मे से नहीं देखें.

BJP ने झारखंड विधानसभा में नमाज के लिए कमरा देने को बताया तुगलकी फरमान, 8 सितंबर को करेंगे घेराव

वहीं सपा विधायक की इस मांग पर बीजेपी विधायक अभिजीत सिंह सांगा ने कहा कि तीन बार के विधायक को आज ही क्यों चुनाव के समय विधानसभा में नमाज के लिए कमरे की मांग क्यों कर रहे हैं. बता दें कि झारखंड सरकार ने नमाज पढ़ने के लिए अलग से कमरा आवंटित कर दिया है. झारखंड सरकार ने नए विधानसभा भवन में मुस्लिम विधायकों के लिए नमाज कक्ष के रूप में कमरा संख्या टी डब्ल्यू 348 आवंटित किया है. झारखंड सरकार के इस फैसले को लेकर झारखंड का विपक्षी दल बीजेपी इसके खिलाफ लगातार प्रदर्शन कर रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें