लखनऊ PGI में भर्ती मरीज संदीप मौर्या की करें आर्थिक मदद, ऐसे दे सकते है नया जीवन

Komal Sultaniya, Last updated: Tue, 18th Jan 2022, 8:27 AM IST
  • बोन मैरो की गंभीर बीमारी से जूझ रहे संदीप मौर्या 26 वर्षीय को मदद की आवश्यकता है. आर्थिक रूप से कमजोर संदीप का इलाज लखनऊ के पीजीआई अस्पताल के हिमैटोलॉजी विभाग में चल रहा है. बोन मैरो ट्रांसप्लांट के बाद उसे तमाम तरह की बीमारियों ने जकड़ लिया है. डॉक्टर में इम्यूनोप्रेसिव थेरेपी की जरूरत बताई है. इस पर करीब 15 लाख रुपये का खर्च बताया. आपकी छोटी सी मदद से किसी मरीज की जान बच सकती है.
लखनऊ PGI में भर्ती मरीज संदीप मौर्या की करें आर्थिक मदद, ऐसे दे सकते है नया जीवन

लखनऊ. बोन मैरो की गंभीर बीमारी से जूझ रहे संदीप मौर्या 26 वर्षीय को मदद की आवश्यकता है. आर्थिक रूप से कमजोर संदीप का इलाज लखनऊ के पीजीआई अस्पताल के हिमैटोलॉजी विभाग में चल रहा है. बोन मैरो ट्रांसप्लांट के बाद उसे तमाम तरह की बीमारियों ने जकड़ लिया है. डॉक्टर में इम्यूनोप्रेसिव थेरेपी की जरूरत बताई है. इस पर करीब 15 लाख रुपये का खर्च बताया. आपकी मदद से मरीज की जान बचाने में सहायता मिल सकती है.

प्रतापगढ़ स्थित रानीगंज के सरायशेख जामताली निवासी द्विव्यांग राम आसरे मौर्य के बेटे संदीप को मई में बुखार व कमजोरी महसूस हुई. स्थानीय डॉक्टरों को दिखाया जिसके बाद नौ नवंबर की जांच में प्लेटलेट्स न बनने (एप्लास्टी एनीमिया) का पता चला. डॉक्टरों ने मरीज को पीजीआई रेफर कर दिया. पीजीआई के हिमैटोलॉजी विभाग के डॉ. अंशुल गुप्ता की देख-रेख में इलाज शुरू हुआ.

लखनऊ: विश्व दिव्यांग दिवस पर विशेष रोजगार मेला, स्वरोजगार के लिए 10 हजार की आर्थिक मदद

डॉ. अंशुल ने जांच के बाद बोन मैरो ट्रांसप्लांट की जरूरत बताई. करीब 10 लाख रुपये खर्च बताए. परिवारीजनों ने पैसे जुटाए. फिर प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री राहत कोष से सहायता मिल चुकी है. बड़ी बहन प्रतिमा ने भाई की जान बचाने के लिए स्टैम सेल दान किए थे. बोनमैरो ट्रांसप्लांट हुआ. उसके बाद वह ग्राफ्ट वर्सेस होस्ट डिजीज (जीवीएचडी) की चपेट में आ गया है.

प्रयागराज हत्याकांड: योगी सरकार पीड़ित दलित परिवार को देगी 16 लाख रुपए आर्थिक मदद

बता दें कि, संदीप के चाचा की बेटी वर्तिक मौर्या इलाहाबाद विश्वविद्यालय में एलएलबी छात्रा है. उसने भाई की जान बचाने के लिए सोशल मीडिया पर लोगों से मदद मांगी. काफी लोगों ने मदद को हाथ बढ़ाया. पर, बहुत कम रकम जुट पाई. ऐसे में परिवारीजनों ने संदीप की मदद की गुहार लगाई है. डॉक्टर में इम्यूनोप्रेसिव थेरेपी की जरूरत बताई है. इस पर करीब 15 लाख रुपये का खर्च बताया है. संदीप की मां भानमती व पत्नी सपना गृहणी हैं. सपना ने बताया कि मार्च में शादी हुई थी. पति संदीप गांव में किराने की दुकान चल रहे थे जो कि कई महीनों से बंद है. आर्थिक संकट गहरा गया है. किसी तरह उधार लेकर काम चलाया जा रहा है.

श्री काशी विश्वनाथ मंदिर का टिकट सेंटर बना कंट्रोल रूम, यात्रियों को विश्वनाथ धाम पहुंचाने में करेगा मदद

ऐसे करें मदद

आपकी छोटी सी मदद से मरीज की जान बच सकती है. लिहाजा पीजीआई के आई ब्लॉक स्थित बोन मैरो ट्रांसप्लांट वार्ड में भर्ती मरीज संदीप के सीआर नम्बर 2021388013 पर सहायता कर सकते हैं. इसके अलावा पीजीआई के एकांउट नम्बर 00000010095237548 पर भी मदद भेज सकते हैं. मरीज के भाई पुनीत मौर्या के मोबाइल नम्बर 9005909444 पर भी संपर्क कर सकते हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें