लखनऊ में स्कूल खुलवाने और आर्थिक मदद के लिए स्कूल संचालकों का प्रदर्शन

Smart News Team, Last updated: Wed, 14th Jul 2021, 9:27 AM IST
  • कोरोना संक्रमण के कारण बंद पड़े उस फूलों को दोबारा फिर से खोलने, संचालकों और अध्यापकों की आर्थिक सहायता की मांग को लेकर टीचरों ने लखनऊ के हजरतगंज इलाके में प्रदर्शन किया. टीचरों ने यह प्रदर्शन बेसिक शिक्षा कल्याण समिति के तरफ से किया है.
स्कूल कैंपस दोबारा खुलवाने की मांग को लेकर टीचरों ने प्रदर्शन किया. (प्रतीकात्मक चित्र)

लखनऊ : कोरोना संक्रमण के वजह से बंद पड़े विद्यालयों को खुलवाने के लिए लखनऊ में मंगलवार के दिन स्कूल संचालकों ने व्यापक प्रदर्शन किया. स्कूल संचालकों ने यह प्रदर्शन लखनऊ के हजरतगंज इलाके में मौजूद सरदार पटेल प्रतिमा के पास किया. इसके अलावा प्रदर्शन कर रहे छात्र बेसिक शिक्षा निदेशालय जाकर इससे संबंधित एक ज्ञापन भी सौंपा है. प्रदर्शन के दौरान स्कूल संचालकों ने आर्थिक सहायता दिए जाने की भी मांग की.

टीचरों ने बताया कोरोना संक्रमण की वजह से उनकी हालत आज के समय में बदतर हो चुकी है. साल 2020 के मार्च से ही प्राइवेट स्कूल के जूनियर लेवल के बच्चों की क्लास बंद हो गई है. जिस वजह से टीचरों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है. इस वजह से बेसिक शिक्षा कल्याण समिति के बैनर तले प्रदर्शन कर रहे टीचरों ने मांग की है कि कोरोना संक्रमण के समय बंद हुए मान्यता प्राप्त विद्यालयों के बिजली के बिल को माफ किया जाए.

प्रियंका गांधी ने लखनऊ दौरे की बदली डेट, अब 16 जुलाई को पहुंचेंगी

प्रदर्शन कर रहे टीचरों ने प्राइवेट स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के लिए भी ड्रेस और मिड डे मील की सुविधा का मांग किया है. इसके अलावा टीचरों ने सरकार से मांग की है कि शिक्षा का अधिकार के तहत मान्यता प्राप्त स्कूलों में एडमिशन पाने वाले बच्चों की फीस की प्रतिपूर्ति किया जाए. साथ ही स्कूल के संचालकों और पढ़ाने वाले टीचरों को आर्थिक सहायता भी दी जाए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें