लखनऊ में 1 दिसंबर तक धारा 144 लागू, शांति भंग की आशंका पर प्रशासन का कदम

Smart News Team, Last updated: 27/11/2020 12:22 AM IST
  • कार्तिक पूर्णिमा और ग्यारहवीं शरीफ के खास मौके पर असामाजिक तत्वों द्वारा शांति व्यवस्था भंग किए जाने की 'प्रबल आशंका' को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा आगामी एक दिसंबर तक लागू रहेगी.
लखनऊ में ग्यारहवीं शरीफ और कार्तिक पूर्णिका को ध्यनाम में रखते हुए धारा 144 लगी

लखनऊ: कार्तिक पूर्णिमा और ग्यारहवीं शरीफ के खास मौके पर असामाजिक तत्वों द्वारा शांति व्यवस्था भंग किए जाने की 'प्रबल आशंका' को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा एक दिसंबर तक लागू रहेगी. लखनऊ में धारा 144 का उल्लंघन करने पर भारतीय दंड विधान की धारा 188 के तहत लोगों को सजा देने और कार्रवाई करने भी आदेश दिये गए हैं.

लखनऊ में ग्यारहवीं शरीफ और कार्तिक पूर्णिका को ध्यनाम में रखते हुए धारा 144 लगे रहने पर संयुक्त पुलिस आयुक्त नवीन अरोड़ा ने भी बातचीत की. बुधवार को जारी बयान में उन्होंने कहा कि विभिन्न राजनीतिक दलों तथा अन्य व्यक्तियों द्वारा लखनऊ में प्रदर्शन किए जाने की संभावना है, जिससे शांति व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है. इसके साथ ही नवीन अरोड़ा ने त्योहार के मौके पर शांति भंग की जाने की भी आशंका जताई.

फॉयल और फ्रेम बनाकर 26 लाख का सोना ले जा रहे तस्कर को कस्टम ने दबोचा

संयुक्त पुलिस आयुक्त नवीन अरोड़ा ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि 27 नवंबर को ग्यारहवीं शरीफ और 30 नवंबर को कार्तिक पूर्णिमा एवं गुरु नानक जयंती के अवसर पर असामाजिक तत्वों द्वारा शांति भंग की जा सकती है जिससे माहौल खराब होने की प्रबल आशंका है. इसके मद्देनजर लखनऊ में आगामी एक दिसंबर तक निषेधाज्ञा लागू रहेगी। इसका उल्लंघन करने पर भारतीय दंड विधान की धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी. बताया जा रहा है कि इस दौरान जिले में किसी भी तरह के आयोजन के लिए आवेदन कर अनुमति लेनी जरूरी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें