भतीजे अखिलेश यादव से मिलना चाहते हैं शिवपाल, सपा अध्यक्ष नहीं दे रहे कोई रिस्पांस

Smart News Team, Last updated: Fri, 6th Aug 2021, 10:07 PM IST
  • सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव काफी समय से अपने भतीजे से नाराज हैं. अब शिवपाल अपने भतीजे से मिलना चाहते हैं लेकिन अखिलेश की तरफ से कोई जवाब नहीं आ रहा है. शिवपाल ने कहा है हमने तो कई दफे अखिलेश से मिलने का समय मांगा लेकिन अब तक नहीं मिला है.
अखिलेश से मिलने का कई बार समय मांगा, लेकिन अब तक नहीं मिला- शिवपाल यादव

लखनऊ. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के संस्थापक और सपा के पूर्व नेता शिव पाल सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को लेकर एक बयान दिया है. एक न्यूज चैनल में शिवपाल से आगामी चुनाव में अपनी पार्टी की तैयारियां और अखिलेश यादव को आशीर्वाद को लेकर सवाल किया गया. इस सवाल पर शिवपाल ने कहा- आशीर्वाद देना तो हर कोई चाहता है लेकिन हमने कई बार समय मांगा है लेकिन हमें समय नहीं मिला है. हम तो ये चाहते हैं कि आने वाले समय में हम सब एक विचारधारा वाले लोग एक मंच पर खड़े होकर चुनाव को जीतें.

इसके साथ ही शिवपाल ने कहा मेरी पहली प्राथमिकता समाजवाद पार्टी है. अगर नेताजी की बात मानी गई होती तो सपा का यह हाल नहीं होता. क्योंकि नेताजी (मुलायम सिंह यादव) हमेशा परिवार को साथ लेकर चले और गांव को और समाजवादी पार्टी को भी एक परिवार की तरह साथ लेकर चले. नेताजी ने अपने दुश्मनों को भी गले लगाया और आगे बढ़ते रहे. अगर अखिलेश भी इस राह पर चलें तो मुझे कोई दिक्कत नहीं है.

इसके साथ ही शिवपाल ने हाल ही में हुए पंचायत चुनाव में नामांकन दाखिल करने से रोकने का आरोप बीजेपी सरकार पर लगाया. भाजपा पर निशाना साधते हुए शिवपाल ने कहा कि ऊपर से एक सूची आई जिसमें कहा गया था कि पंचायत चुनाव में केवल इन्हीं लोगों को नामांकन दाखिल करना चाहिए. 

कहते थे खून बहेगा, अयोध्या राम मंदिर का समाधान हुआ और एक मच्छर नहीं मरा: CM योगी

शिवपाल ने यह भी साफ किया कि वह 2022 का विधानसभा चुनाव किसी न किसी दल के साथ गठबंधन करके ही लड़ेंगे. इसके साथ ही शिवपाल ने इस बात के भी संकेत दिए हैं कि अगर सपा पार्टी उन्हें उचित सीट देती है तो वह चुनावी मैदान में सपा के साथ नजर आएंगे.

लखनऊ. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के संस्थापक और सपा के पूर्व नेता शिव पाल सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को लेकर एक बयान दिया है. एक न्यूज चैनल में जब शिवपाल से आगामी चुनाव में अपनी पार्टी की तैयारियां और अखिलेश यादव को आशीर्वाद को लेकर सवाल किया गया. इस सवाल पर शिवपाल ने कहा- आशीर्वाद देना तो हर कोई चाहता है लेकिन हमने कई बार समय मांगा है लेकिन हमें समय नहीं मिला है. हम तो ये चाहते हैं कि आने वाले समय में हम सब एक विचारधारा वाले लोग एक मंच पर खड़े होकर चुनाव को जीतें.

इसके साथ ही शिवपाल ने कहा मेरी पहली प्राथमिकता समाजवाद पार्टी है. अगर नेताजी की बात मानी गई होती तो सपा का यह हाल नहीं होता. क्योंकि नेताजी (मुलायम सिंह यादव) हमेशा परिवार को साथ लेकर चले और गांव को और समाजवादी पार्टी को भी एक परिवार की तरह साथ लेकर चले. नेताजी ने अपने दुश्मनों को भी गले लगाया और आगे बढ़ते रहे. अगर अखिलेश भी इस राह पर चलें तो मुझे कोई दिक्कत नहीं है.

इसके साथ ही शिवपाल ने हाल ही में हुए पंचायत चुनाव में नामांकन दाखिल करने से रोकने का आरोप बीजेपी सरकार पर लगाया. भाजपा पर निशाना साधते हुए शिवपाल ने कहा कि ऊपर से एक सूची आई जिसमें कहा गया था कि पंचायत चुनाव में केवल इन्हीं लोगों को नामांकन दाखिल करना चाहिए. 

कहते थे खून बहेगा, अयोध्या राम मंदिर का समाधान हुआ और एक मच्छर नहीं मरा: CM योगी

शिवपाल ने यह भी साफ किया कि वह 2022 का विधानसभा चुनाव किसी न किसी दल के साथ गठबंधन करके ही लड़ेंगे. इसके साथ ही शिवपाल ने इस बात के भी संकेत दिए हैं कि अगर सपा पार्टी उन्हें उचित सीट देती है तो वह चुनावी मैदान में सपा के साथ नजर आएंगे.

|#+|

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें