2023 तक खुल जायेगा भक्तों के लिए भव्य राम मंदिर, भूमि पूजन का 1 साल पूरा होने पर CM योगी जाएंगे अयोध्या

Smart News Team, Last updated: Wed, 4th Aug 2021, 6:45 PM IST
  • अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर के दर्शन सभी श्रद्धालु 2023 तक कर पाएंगे. कल यानी 5 अगस्त को राम मंदिर का भूमिपूजन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था. निर्माण कार्य के एक साल पूरा होने पर यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ अयोध्या का दौरा करेंगे कार्यक्रम में प्रधानमंत्री भी वर्चुअल तरीके से जुड़ सके हैं.
भव्य राम मंदिर के द्वार श्रद्धालुओं के लिए 2023 तक खुल जायेंगे

लखनऊ. काफी समय से विवादों में रहा अयोध्या का राम मंदिर का निर्माण कार्य तेजी से हो रहा है. कहा जा रहा है कि भव्य राम मंदिर के द्वार श्रद्धालुओं के लिए 2023 तक खुल जायेंगे. जिसके बाद ही सभी श्रद्धालु रामलला के दर्शन कर पाएंगे. यह जानकारी राम मंदिर ट्रस्ट के हवाले से कुछ सूत्रों ने दी है. वैसे तो राम मंदिर पूरी तरह से विकसित 2025 तक हो पाएगा लेकिन पूरे परिसर में जो भी विकास कार्य होने हैं वे 2023 तक पूरे हो जाएंगे जिसके बाद श्रद्धालुओं के लिए राम मंदिर और रामलला के दर्शन शुरू कर दिए जायेंगे.

बता दें कि कल गुरुवार यानी 5 अगस्त को ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या के राम मंदिर का भूमिपूजन किया था जिसके बाद मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हुआ. कल राम मंदिर के निर्माण को पूरा एक साल होने जा रहा है. इस मौके पर यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ अयोध्या सहित राम मंदिर का दौरा करेंगे जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी वर्चुअल तरीके से जुड़ सके हैं. इस कार्यक्रम के आयोजन के दौरान 100 से अधिक लोगों को पीएम गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना का लाभ दिया जाएगा.

भगवान राम हमारे पूर्वज, जय श्रीराम ना बोलने वालों के DNA पर शक होता है: CM योगी

भूमिपूजन को कल होगा एक साल, CM योगी करेंगे अयोध्या का दौरा

एक लंबे समय के इंतजार के बाद अब जाकर राम मंदिर को बनाने का कार्य शुरू हो पाया है इसलिए सरकार भी चाहती है की बिना देरी करे हुए जल्द से जल्द राम मंदिर बनकर तैयार हो और जगह जगह के आम श्रद्धालु भी भगवान राम के दर्शन कर पाएं. इससे पहले भी राम मंदिर निर्माण का काम देख रहे श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने कहा था कि 2023 तक मंदिर के मुख्य परिसर का काम खत्म हो जाएगा और आने वाले दो साल के भीतर मंदिर में पूजा-अर्चना शुरू हो जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें