केंद्र सरकार के इस बड़े कदम से कम हो सकते है पेट्रोल-डीजल के दाम

Smart News Team, Last updated: Tue, 24th Aug 2021, 12:31 PM IST
  • भारत के पेट्रोल-डीजल बाजार में आने वाले समय में निजी कंपनियां भी नजर आ सकती है. जानकारी के अनुसार, इन निजी कंपनियों की तेल बेचने की अनुमति मिलने के बाद देश में तेल बेचने वाली कंपनियों की सख्या 14 हो जाएगी.
पेट्रोल डीजल बाजार में जल्द उतर सकती है प्राइवेट कंपनियां. (फाइल फोटो)

लखनऊ: भारत के पेट्रोल और डीजल ( Patrol Diesal) बाजार में जल्द ही छह निजी कंपनियां दस्तक देने जा रही है. सूत्रों से मिली खबर के अनुसार, सरकार आने वाले समय में इन नई कंपनियों को देशभर में पेट्रोल-डीजल बेचने की अनुमति प्रदान कर सकती है. सरकार की अनुमति के बाद देश में ईधन बेचने वाली कंपनियों की सख्या 14 हो जाएगी. 2019 में संशोधित मार्केट ट्रासपोर्टेशन फ्युल्स नियमों के आधार पर निजी कंपनियों को ईधन बाजार में कारोबार करने की अनुमति दी गई है. विशेषज्ञ का मानना है कि पेट्रोलियम रिटेल बिजनेस में कंपटीशन होने से ग्राहकों का फायदा होगा.

मिली जानकारी के अनुसार, नए लाइसेंस मिले वाली कंपनियों में असम गैस कंपनी, एमके एग्रोटेक, आरबीएमएल सॉल्यूशंस इंडिया, आईएमसी, ऑनसाइट एनर्जी, मानस एग्रो इंडस्ट्रीज और इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड के नाम शामिल है. सरकार की ओर से जारी गाइडलाइंस के मुताबिक नए लाइसेंस उन कंपनियों को दिए गए थे जिनकी न्यूनतम नेटवर्क 250 सौ करोड रुपए है. साथ ही कंपनियों को 2000 करोड़ रुपये के निवेश से इसकी शुरुआत करनी होगी. नए नियमों के मुताबिक सरकार से अनुमति मिलने के 5 साल के अंदर कंपनियों को कम से कम 10 रिटेलर्स आउटलेट तैयार करने होंगे. जिसमें से 5 प्रतिशत ग्रामीण इलाकों में होने चाहिए.

पेट्रोल डीजल 24 अगस्त का रेट: लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, आगरा, मेरठ, गोरखपुर, प्रयागराज कम हुए तेल के दाम

ग्राहको को होगा फायदा

सरकार की मंजूरी मिलने के बाद पेट्रोल डीजल मार्केट या ईधन बाजार में कुल 14 कंपनियां हो जाएगी. जानकार कह रहे है बाजार में जितनी अधिक कंपनियां होगी, इतना ही ग्राहको को फायदा होगा. लेकिन अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि इन निजी कंपनियों को कब तक मंजूरी मिल सकती है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें