पढ़ाई को टोका तो जाग गई कलयुगी बेटे की हैवानियत, पिता को गोली मारकर फरार

Shubham Bajpai, Last updated: Sun, 19th Sep 2021, 1:58 PM IST
  • लखनऊ के चिनहट इलाके में एक बेटे ने पढ़ाई के लिए टोकने की वजह से अपने पिता को गोली मार दी. पिता को गोली लगने के बाद वो गंभीर तौर पर घायल हो गए. जिसके बाद उन्हें ट्रामा सेंटर इलाज के लिए भर्ती कर दिया गया. वहीं, मौके से आरोपी बेटा फरार हो गया.
पढ़ाई को टोका तो कलयुगी बेटे ने पिता को मारी गोली

लखनऊ. राजधानी में एक कलयुगी बेटे की हरकत ने पिता बेटे के रिश्तों को शर्मसार कर दिया है. पिता ने बेटे को जब पढ़ाई के लिए टोका तो यह बात बेटे अमन को नगावर गुजरी और उसने पिता की ही लाइसेंसी बंदूक से उन्हें गोली मार दी. गोली पिता अखिलेश के जांघ में लगी, जिसके बाद अखिलेश गंभीर रूप से घायल हो गए. गोली चलने की आवाज सुनकर परिवार के सदस्य व मोहल्ले के लोग इकट्ठा हो गए.  जिसके बाद मोहल्ले के लोगों ने अखिलेश को आनन-फानन में ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया. जहां उनका इलाज चल रहा है. वहीं, बेटा अमन मौके से फरार हो गया. मौके पर पहुंची पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. अभी तक परिवार के लोगों ने इस मामले में कोई तहरीर नहीं दी है.

बेटे को दुकान में बैठा देख पढ़ाई के लिए डांटने लगे थे अखिलेस

मटियारी के ननुहा विहार कॉलोनी में अखिलेश यादव उर्फ टिंकू अपने परिवार के साथ रहते हैं. वो सुबह मॉर्निंग वॉक कर वापस अपने घर लौट रहे थे. तभी बेटे अमन को दुकान में बैठा देख डांटने लगे और घर जाकर पढ़ाई करने के लिए कहने लगे. जिससे अमन को गुस्सा आ गया और घर जाकर वो पिता की लाइसेंसी बंदूक ले आया और उससे पिता पर फायरिंग कर दी. गोली उनकी जांघ में लगी. गोली लगने से गंभीर रूप से घायल अखिलेश को ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया.

CM योगी ने यूपी में BJP की साढ़े चार साल की सरकार का दिया हिसाब, गिनाई उपलब्धियां

पुलिस कर रही आरोपी की तलाश

चिनहट थाने के थाना प्रभारी घनश्याम त्रिपाठी ने बताया कि बेटे द्वारा पिता को गोली मारने की सूचना पर मौके पर पहुंच घटना की जानकारी ली. पुलिस के पहुंचने से पहले अमन मौके से फरार हो गया था. अभी पुलिस आरोपी अमन की तलाश कर रही है. हालांकि अभी तक इस मामले में कोई तहरीर नहीं मिली है. 

BJP सरकार से पहले यूपी में सिर्फ घोटाले होते थे, भूखे मर रहे थे लोग: CM योगी आदित्यनाथ

बता दें कि गोली लगने के बाद अखिलेश का इलाज ट्रामा सेंटर में चल रहा है. वो इलाज के बाद अब खतरे से बाहर हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें