फोटो से खेल गए अखिलेश यादव, 'हेड ऑफ गठबंधन' कुर्सी पर सपा ने कृष्णा पटेल को बिठाया

Jayesh Jetawat, Last updated: Wed, 12th Jan 2022, 10:27 PM IST
  • उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के मद्देनजर समाजवादी पार्टी और सहयोगी दलों की बैठक के दौरान सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने अपना दल (कमेरावादी) की अध्यक्ष कृष्णा पटेल को ‘हेड ऑफ गठबंधन’ की कुर्सी पर बिठाया.
सपा और सहयोगी दलों के गठबंधन की बैठक के दौरान मुख्य कुर्सी पर बैठीं कृष्णा पटेल

लखनऊ: केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की मां और अपना दल के एक धड़े की अध्यक्ष कृष्णा पटेल समाजवादी पार्टी और सहयोगी दलों के गठबंधन की बैठक में अहम किरदार में दिखीं. सपा प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुधवार को उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सहयोगी दलों के साथ सीट शेयरिंग फॉर्मूले को लेकर बैठक की. अखिलेश यादव टेबल कॉन्फ्रेंस के दौरान खुद मुख्य कुर्सी पर नहीं बैठे. बल्कि उन्होंने अपना दल (कमेरावादी) की अध्यक्ष कृष्णा पटेल को सम्मान दिया और उन्हें 'हेड ऑफ गठबंधन' वाली कुर्सी पर बिठाया. बैठक की ये फोटो राजनीतिक हलके में चर्चा का विषय बन गई है.

गठबंधन की बुधवार को लखनऊ में हुई बैठक में सपा प्रमुख अखिलेश यादव, उनके चाचा एवं प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव, अपना दल (कमेरावादी) की अध्यक्ष कृष्णा पटेल, सुभासपा प्रमुख ओमप्रकाश राजभर, आरएलडी नेता मसूद, महान दल के नेता केशव देव मौर्य और जनवादी पार्टी के संजय चौहान शामिल हुए. इस दौरान गठबंधन में सीट शेयरिंग फॉर्मूले पर चर्चा की गई.

यूपी चुनाव 2022: अखिलेश की सपा का टिकट बंटवारा, चाचा शिवपाल की प्रसपा को 6 सीट !

सपा और सहयोगी दलों के गठबंधन की एक फोटो सामने आई. इसमें टेबल के सामने वाली मुख्य कुर्सी पर कृष्णा पटेल बैठी हुई नजर आईं. उनके बायीं ओर अखिलेश यादव और फिर शिवपाल यादव बैठे हैं. इस तस्वीर से साफ झलक रहा है कि अखिलेश यादव, कृष्णा पटेल को गठबंधन की मुखिया के तौर पर प्रजेंट कर रहे हैं. इसके कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं.

दलबदल से सहमी BJP छोड़ेगी सत्ता विरोधी लहर काटने की रणनीति, MLA टिकट पर बड़ा फैसला

अखिलेश अक्सर अपने बयानों में कृष्णा पटेल को राजमाता कहकर पुकारते हैं. कृष्णा इस गठबंधन में शामिल पार्टियों की अकेली ऐसी प्रमुख हैं, जो महिला हैं. जो भी हो, अखिलेश यादव के इस 'फोटो गेम' से आगामी चुनाव में गठबंधन के पक्ष में नए तरह के विचार लोगों के मन में उपजेंगे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें